अयोध्या के पास के इस गांव में देखने को मिलती है हिंदू - मुस्लिम एकता की अनोखी मिसाल

अयोध्या। उत्तर प्रदेश में अयोध्या के जाति-धर्म का बंधन तोड़कर शहर से कुछ ही दूरी पर स्थित मुमताजनगर ग्राम सभा के हिंदू-मुस्लिम आपसी एकता एवं भाईचारे की मिसाल पेश करते हुए रामलीला में मुस्लिम वर्ग के तमाम लोग न सिर्फ विभिन्न पात्रों का किरदार अदा करते हैं बल्कि इनमें से कई रामलीला के दौरान मांसाहार तक का त्याग कर देते हैं। पचपन वर्ष से आयोजित हो रही इस रामलीला के मुखिया भी मुस्लिम हैं।

श्री रामलीला रामायण समिति मुमताजनगर के अध्यक्ष की भूमिका का निर्वाहन डा. सैय्यद माजिद अली करीब पैंतालिस वर्षों से निभा रहे हैं। माजिद अली ने बताया कि इसके पहले इनके पिता स्व. वाजिद अली यह जिम्मेदारी निर्वहन करते थे। उन्होंने बताया कि इस रामलीला में कौन हिंदू है या कौन मुसलमान है इसकी जानकारी आप नहीं कर सकते हैं। बल्कि सभी लोग इंसान हैं।

मोहम्मद सैफ व मोहम्मद कैफ ने बताया कि रामायण में मंचन के दौरान जो भी भूमिका उन्हें मिलती है वह बखूबी निभाते हैं। हम दोनों भाई नल-नील बनते हैं तो कभी साधू। वहीं सलमान उर्फ नब्बू व मोहम्मद शाहीनूर कहते हैं कि भगवान राम लक्ष्मण व सीता तथा रामदल से जुड़े पात्रों की लोग आरती उतारते हैं व चरण छूते हैं। ऐसे में हमें भी भक्तों की आस्था का ख्याल रखना होता है। बस इसी वजह से रोज रामायण के मंचन से पहले नहा-धोकर किरदार निभाता हूं और जब तब रामलीली हाती है मांस-मदिरा का सेवन नहीं करता हूं।

इस बार की रामलीला में रावण का किरदार निभाने वाले कलाकार चन्द्रशेखर कहते हैं कि एक दूसरे के त्यौहारों के साथ ही हर सुख-दुख में हिस्सा लेते हैं। उन्होंने बताया कि मुस्लिम व हिंदू कलाकार एक भी रुपया रामलीला समिति से नहीं लेते हैं बल्कि कोशिश करते हैं कि दान स्वरूप कहीं से इस समिति से रुपया दिलाया जाये जिससे भव्य रामलीला का मंचन हो।

समिति के मंत्री एवं पूर्व प्रधान शिवशंकर मौर्य ने बताया कि गांव के हिंदू-मुस्लिम युवक दशहरा, होली, दीपावली एक साथ मनाते हैं। यहां तक कि मुस्लिम हमारे साथ होली खेलते हैं और हिंदू मोहर्रम में तासा झांसा बजाते हुए कर्बला तक जाते हैं। इन लोगों से मंदिर-मस्जिद विवाद से कोई मतलब नहीं है। इस गांव में एक सौहार्द वातावरण में हिंदू -मुस्लिम त्यौहार को शांतिपूर्ण ढंग एवं परिवार के साथ मनाते हैं जिससे देश और विदेश में हिंदू-मुस्लिम भाईचारे का एक सौहार्दपूर्ण संदेश जाता है।-एजेंसी

Related News

Leave a Comment