जल्द कांग्रेस ज्वाइन कर सकती हैं अलका लांबा

नई दिल्ली। दिल्ली के चांदनी चौक क्षेत्र से विधायक अलका लांबा ने आम आदमी पार्टी (आप) की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। वह लंबे समय से पार्टी से नाराज चल रही थीं। हाल ही में उन्होंने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की थी। इसके बाद से ही अंदाजा लगाया जा रहा था कि अलका जल्द कांग्रेस ज्वाइन कर सकती हैं।
अलका लांबा ने पार्टी छोडऩे की घोषणा ट्वीट कर दी है। लांबा ने शुक्रवार को ट्वीट कर लिखा, आम आदमी पार्टी को गुड बाय कहने और पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देने का समय आ गया है। पिछले छह साल की यात्रा सीखने के लिहाज से काफी अच्छी रही। सभी को धन्यवाद।
ज्ञात हो कि अलता लांबा ने पहले ही घोषणा कर दी थी कि वे 2020 का दिल्ली विधानसभा चुनाव निर्दलीय के तौर पर लड़ेंगी। आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से उनकी नाराजगी के चर्चे हर तरफ हो रहे थे। 43 वर्षीय अलका लांबा ने मंगलवार को ही कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया से मुलाकात की थी। मुलाकात के बाद उन्होंने कहा था कि देश के वर्तमान राजनीतिक परिदृश्य पर उनसे चर्चा हुई।
लंबा कांग्रेस के साथ पहले भी 20 साल तक जुड़ी रही थी और 2013 में आप में शामिल हुई थीं। पिछले विधानसभा चुनाव में वह आप की टिकट पर चांदनी चौक से विजयी हुई थीं।
गौरतलब है कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के निकटस्थ सहयोगी रहे पूर्व मंत्री और करावल नगर से विधायक कपिल मिश्रा, बिजवासन से देंवेंद्र सहरावत और गांधी नगर विधायक अनिल वाजपेयी के अलावा कुछ और विधायक भी आप से बागी हो चुके हैं।
लांबा की आप से दूरियां पिछले साल उस समय और गहरा गई थीं जब पार्टी ने एक प्रस्ताव पारित कर पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजीव गांधी को मिले देश के सर्वोच्च पुरस्कार भारत रत्न को वापस लेने की मांग की थी।

Related News

Leave a Comment