सियासत की वजह से टूट गई थी अलका लांबा की शादी, पति ने लगाए थे ये आरोप

नई दिल्ली। मंगलवार को अलका लांबा ने कांग्रेस की अतंरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से उनके आवास पर मुलाकात की थी। जिसके बाद से ऐसी चर्चा है कि वह कांग्रेस में फिर से शामिल हो सकती हैं।

बता दें कि अलका ने अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत कांग्रेस से की थी। अलका लांबा ने NSUI की छात्र राजनीति अपने करियर की शुरूआत की थी। वह कांग्रेस में सचिव तक रह चुकीं हैं।

इसके बाद उन्होंने 2014 में आम आदमी पार्टी की सदस्यता ली। उन्होंने 2015 में दिल्ली विधानसभा चुनाव लड़ा और जीत हासिल की।

अलका लांबा जब एनसयूआई (NSUI) की छात्र राजनीति में सक्रिय थी उसी दौरान उनकी लव स्टोरी शुरू हो गई थी। उन दिनों अलका दिल्ली के एक रईस लोकेश के संपर्क में थीं। दोनों के बीच जल्द ही प्यार परवान चढ़ने लगा। फिर दोनों ने शादी का फैसला किया।

दोनों के परिवार वालों को शादी से कोई परेशान नहीं थी। दोनों की शादी हो गई और उनका एक बेटा भी हैं। लेकिन शादी के बाद से ही दोनों में टकराव की भी ख़बरें सुनने को मिलती थी।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, साल 2003 में अलका का तलाक हुआ था। उस समय उनके पति ने उन पर राजनीतिक महत्वाकांक्षाओं का आरोप लगाते हुए कहा था कि अलका ने उनके फ्लैट पर जबरन कब्जा कर लिया है। लोकेश के मुताबिक, अलका उनके परिवार वालों के साथ बुरा बर्ताव करती थी।

Related News

Leave a Comment