अरशद मदनी ने की मोहन भागवत से मुलाकात

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत से जमीयत उलेमा-ए-हिंद के अध्यक्ष मौलाना अरशद मदनी ने मुलाकात की।

उन्होंने मोहन भागवत से कहा कि आरएसएस मुस्लिमों के प्रित अपना नजरिए बदले और काम की बात को बयानबाजी तक सीमित ना रखकर जमीन पर उतारे।

मौलाना अरशद मदनी की यह मुलाकात हिंदू-मुस्लिम एकता के नजरिए से बेहद अहम मानी जी रही है। यह बैठक करीब डेढ़ घंटे चली.दोनों की इस मुलाकात को बेहद सकारात्मक माना जा रहा है। यह मुलाकात तब हुई है जब देशभर से मॉ’बलिं’चि’ग के मामले सामने आ रहे हैं.मदनी ने सांप्रदायिक माहौल और मॉब लिंचिंग की घटनाओं पर चिंता जताई थी।उन्होंने हाल ही सरकार से मांग की थी कि मॉब लिंचिंग को लेकर कड़ा कानून बनाए।


दोनों के बीच जिन मुद्दों को लेकर सकारात्मक बातचीत हुई है उसे आगे लेकर जाने की बात कही गई है। मदनी राष्ट्रीय जनमंच की पहल पर आरएसएस हेडक्वॉर्टर पहुंचे थे. यह एक फोरम है जो राष्ट्रीय एकता को बढ़ावा देने के लिए काम करता है। यह मुलाकात दिल्ली के झंडेवालान स्थित संघ कार्यालय ‘केशव कुंज’ में हुई। इस मुलाकात में मदनी ने मुस्लिमों के हितों को लेकर बात की साथ ही हिंदू-मुस्लिम एकता पर भी ज़ोर दिया।

Related News

Leave a Comment