जन्माष्टमी समारोह में 'कान्हा' बना आसिफ

शिवपुरी। मोहनी सागर निवासी दिव्यांग शिक्षक दंपति और उनके परिवार ने सर्वधर्म समभाव की मिसाल पेश की है।

गुरुवार को स्कूलों में आयोजित जन्माष्टमी उत्सव के दौरान दिव्यांग शिक्षक नासिर खान का 6 वर्षीय आसिफ कान्हा बनकर कार्यक्रम में शामिल हुआ। भगवान कृष्ण के रूप में आसिफ को देखकर सभी ने सराहा। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार नासिर ने बताया कि बेटे ने खुद इच्छा जाहिर की तो हमने भी उसकी इस ख्वाहिश को पूरा किया। वैसे भी हमारे घर में सभी त्योहार मनाए जाते हैं।

नासिर ने करीब 8 साल पहले जीवन साथी के रूप में दिव्यांग मीना को चुना। दोनों के मजहब अलग होने के बावजूद उनके बीच मजहबी बंदिशें कभी खड़ी नहीं हुईं। नासिर की पत्नी मीना बताती हैं कि उनके घर में पूजा भी होती है और नमाज भी, वो करवाचौथ का व्रत भी रखती है तो ईद और दीपावली की खुशियां भी पूरा परिवार मिलकर मनाता है।

Related News

Leave a Comment