पेड़ कटने पर फूट-फूट कर रोई बच्ची ने कहा- भाई थे मेरे...

9 वर्षीय वैलेंटिना एलंगमबाम मणिपुर की रहने वाली हैं। एलंगमबाम जब पहली कक्षा में थी तो उन्होंने दो पेड़ लगाए थे। तब उनकी उम्र चार वर्ष रही होगी। एक दिन जब वो स्कूल से लौंटी तो दोनों पेड़ कटे मिले। एलंगमबाम फुट -फुट कर रोने लगी। एलंगमबाम की रोते हुए किसी ने तस्वीर खींच लिया। तस्वीर सोशल मीडिया में खूब वायरल हुई। एलंगमबाम बताती हैं कि ‘उन दोनों पेड़ों को उन्होंने अपने भाई के जैसे देखभाल किया था। मैंने उन्हें प्यार से लगाया था’।

एलंगमबाम का सपना है कि वह वन अधिकारी बने , पहाड़ों पर जहाँ पेड़ काट दिए गये हैं वहां वह फिर से पेड़ लगाएं। एलंगमबाम की तस्वीर वायरल होने के बाद मणिपुर के मुख्यमंत्री ऍन. बिरेन सिंह ने ट्वीट किया। बिरेन सिंह ने लिखा – हमें बच्ची की रोने की वजह जब मालूम चला तो अधिकारी तुरंत उसके घर पहुंचे। उसे दूसरे पौधे देकर मनाया। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि एलंगमबाम अब ग्रीन मणिपुर मिशन की एंबैस्डर होगी।

एलंगमबाम के माता-पिता मुख्यमंत्री के इस फैसले से खुश है। एलंगमबाम की मां का कहना है कि मेरी बेटी को जो सम्मान मिला उसके लिए हम सरकार के आभारी हैं। मुझे अपनी बच्ची पर बहुत गर्व है। मैंने कभी नहीं सोचा था कि मेरी बेटी में प्रकृति को लेकर इतनी ज्यादा रूचि होगी। लेकिन अब हमारा पूरा परिवार उसके हर कदम पर उसका साथ देंगे।

Related News

Leave a Comment