आचार्य विद्यासागर जी महाराज व ज्ञानमति माताजी का अवतरण दिवस मनाया

निवाई। आर्यिका श्रुतमति व सुबोधमति माताजी के सानिध्य में संत निवास नसियां जैन मंदिर में आयोजित 16 दिवसीय शांतिमंडल विधान एवं जैन धर्म के गौरव आचार्य विद्यासागर जी महाराज एवं आॢयकारत्न गणिनी ज्ञानमति माताजी के अवतरण दिवस पर धार्मिक एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए गए।

जैन समाज के प्रवक्ता विमल जौंला ने बताया कि बुधवार को सुबह विधान से पूर्व सोधर्म इन्द्र नेमीचन्द संजय कुमार जैन सिरस वाले परिवार को भगवान शांतिनाथ की शांतिधारा करने का सौभाग्य मिला।

प. सुरेश के शास्त्री के सानिध्य में विधान में बैठे सभी इंद्र-इंद्राणियो ने श्रीजी के अभिषेक किए। विधान की शुरुआत प्रमुख समाजसेवी चातुर्मास कमेटी अध्यक्ष महेन्द्र चंवरिया, बड़ा जैन मन्दिर अध्यक्ष महावीर प्रसाद गोधा, अनिल भाणजा एवं त्रिलोक रजवास ने भगवान शांतिनाथ के समक्ष दीप प्रज्वलित व पूजा-अर्चना से की। मंगलाचरण अशोक भाणजा ने किया। जौंला ने बताया कि विधान में श्रद्धालुओं ने मण्डल विधान पर नित्य नियम पूजा। देव शास्त्र गुरु पूजा आचार्य विद्यासागर जी महाराज की पूजा। आर्यिका ज्ञानमति माताजी व आर्यिकारत्न आदिमति माताजी की पूजा के साथ शांति मण्डल विधान की विशेष पूजा-अर्चना भक्ति भाव से की गई।

जिसमें इन्द्र नेमीचंद जैन प्रकाश सेदरिया, दिनेश चंवरिया, प्रकाश सांवलिया, शंभु कठमाणा, अनिल भाणजा, महिला मण्डल की अध्यक्ष मंजू जैन, रानी चंवरिया, मधु सिरस, ममता जैन ने भक्ति नृत्य की प्रस्तुतियां दी। इस दौरान सोधर्म इन्द्र सहित सभी श्रद्धालुओं ने जयघोष के साथ मंडप पर 128 श्री फल चढ़ाए एवं भगवान पंच परमेष्ठी की आरती कर णमोकार महामंत्र के जाप किए गए। जौंला ने बताया कि आचार्यश्री विद्यासागर जी महाराज एवं विदूषी आॢयका ज्ञानमति माताजी का अवतरण दिवस धूमधाम से मनाया गया।

जिसमें प्रश्न मंच प्रतियोगिता महावीर चालीसा एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम किए गए। इस अवसर पर पूर्व मुख्य सचेतक महावीर प्रसाद जैन, महावीर प्रसाद पराना, रवि लुहाडिया, संजय चंवरिया, विवेक जैन, महेन्द्र गिन्दोडी, धर्मचन्द चंवरिया, राजेश गिन्दोडी, विमल सोगानी, त्रिलोक रजवास सहित अनेक श्रद्धालु मौजूद थे।

Related News

Leave a Comment