क्या होता है टूथपेस्ट में 'कलर मार्क' का अर्थ?

बाजार में बहुत सारे टूथपेस्ट मौजूद हैं और उनके रंग बिरंगे रंगों को देखकर बहुत सारे लोग आसानी से आकर्षित हो जाते हैं। ऐसे में क्या आपने टूथपेस्ट को खरीदते समय कभी ये सोचा है कि टूथपेस्ट का रंग अलग अलग क्यों होता है..या फिर ऐसा करने की मंशा के पीछे क्या बात है।

ज्यादातर लोग इसे टूथपेस्ट को आकर्षित करने की कला के रूप में लेते हैं। अगर आप कुछ ऐसा ही सोच रहे हैं तो ऐसा बिल्कुल नहीं है क्योंकि टूथपेस्ट का हर रंग कुछ कहता है।

बाजार में आपको काले, लाल, नीले और हरे रंग के मार्क वाले टूथपेस्ट मिल जाएंगे। इसलिए खरीदते समय इन लेबल्स को देखना कभी न भूलें क्योंकि ऐसा करना आपकी सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है।

काला मतलब सबसे ज्यारा कैमिकल
आपने टूथपेस्ट के नीचे वाले हिस्से पर काले रंग की अगर कोई पट्टी देखी है तो उस टूथपेस्ट को भूल से भी नहीं खरीदना चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि काला रंग के मार्क वाले टूथपेस्ट में कैमिकल्स की मात्रा सबसे अधिक होती है।

लाल थोड़ा कम कैमिकल वाला 
टूथपेस्ट में अगर लाल रंग का मार्क है तो इसका मतलब है कि काले मार्क वाले टूथपेस्ट से थोड़ा बेहतर है। यानि कि इसे बनाने में प्राकृतिक चीजों के साथ-साथ कैमिकल्स का भी इस्तेमाल किया गया हैं।

नीला मतलब प्राकृतिक और मेडिकेशन 
टूथपेस्ट में नीले रंग का मार्क बना है तो टूथपेस्ट आपके लिए काफी हद तक सुरक्षित है। नीले मार्क वाले टूथपेस्ट का मतलब है कि इसमें प्राकृतिक तत्वों के अलावा इसमें मेडिकेशन भी शामिल है।

हरा सेहत के लिए सबसे अच्छा
हरे रंग के मार्क वाले टूथपेस्ट को सेहत के लिए सबसे अच्छा माना जाता हैं। हरे रंग वाले मार्क का मतलब है कि टूथपेस्ट को बनान में केवल प्राकृतिक तत्वों का ही इस्तेमाल किया गया है। जो सेहत की दृष्टि से पूरी तरह से सुरक्षित है। 


Source : upuklive

Related News

Leave a Comment