EVM के विरोध में आईंं ये राजनीतिक पार्टियां

ईवीएम और वीवीपैट के खिलाफ महाराष्ट्र की सभी राजनैतिक पार्टिया लामबंद हो चुकी हैं। महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना अध्यक्ष राज ठाकरे ने सबसे पहले ईवीएम के ख़िलाफ़ लड़ाई लड़ने का मन बनाया और एक एक कर सभी पार्टियां ईवीएम के खिलाफ एकजुट होती जा रही हैं।

न्यूज़ २४ की रिपोर्ट के अनुसार मुबई में ईवीएम और वीवीपैट के खिलाफ प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया गया, जिसमें मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे, एनसीपी नेता अजित पवार,छगन भुजबल,कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष बालासाहब थोरात,स्वाभिमानी शेतकरी संगठन के अध्यक्ष राजू शेट्टी के साथ कई छोटी पार्टियों के नेता मौजूद रहे।  महाराष्ट्र में ईवीएम और वीवीपेट के खिलाफ घर घर जाकर लोगों से एक फॉर्म भरवाया जाएगा।

 इस फॉर्म में लिखा होगा कि महाराष्ट्र के अगले विधानसभा चुनाव बैलेट पेपर पर हो न कि ईवीएम पर। इसके अलावा 21 अगस्त को मुंबई में ईवीएम-वीवीपैट के खिलाफ महामोर्चा का आयोजन किया गया है, इस महा मोर्चे में कांग्रेस, एनसीपी, महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना, स्वाभिमानी शेतकरी संगठन, आम आदमी पार्टी, शेतकरी कामगार पार्टी,भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी और लोकभारती जैसी पार्टिया शामिल होंगी।

राज ने ईवीएम और विविपैट के खिलाफ पहले दिल्ली जाकर सोनिया गांधी और 2 दिन पहले कोलकाता जाकर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मुलाक़ात कर इस आंदोलन में शामिल होने की बिनती की जिसे ममता ने मान लिया है और ममता कोलकाता में ईवीएम और वीवीपैट के खिलाफ आंदोलन जल्द ही करनेवाली है।

राज ठाकरे लगातार ईवीएम-वीवीपैट के खिलाफ आंदोलन की तैयारी में लगे हैं। खबरें यह आ रही हैं कि कोहिनूर जमीन मामले में राज ठाकरे से ईडी पूछताछ कर सकती है। जिसपर राज ठाकरे का कहना है कि उन्हें इस सब से कोई फर्क नहीं पड़ता है।

Related News

Leave a Comment