नया शहर-नयी चुनौतियां, एक नए सफर की शुरूआत...

मुहम्मद फैज़ान
बचपन से जवानी तक का बेहद अहम समय जहां बीतता है, उस शहर, उस मुहल्ले की दरों-दीवार से एक अलग ही लगाव होता है। कुछ ऐसा ही मेरा सफर रहा ठाकुरद्वारा का। जहां बोलना-चलना सीखा, पढ़ाई की। यहीं से एक अखबार के साथ पत्रकारिता के करियर की शुरूआत हुई। बुरी से बुरी परिस्थितियां भी देखीं, जो उम्र भर के लिए एक बड़ा सबक हैं।
अब नए शहर में नए सफर की शुरूआत है। यूं तो यहां निजि जीवन से लेकर प्रोफेशनल लाइफ तक कुछ नया जैसा नहीं है। पत्रकारिता के जुड़े कई पुराने मित्रों ने अमरोहा में जिस तरह से स्वागत किया, उससे ठाकुरद्वारा की कमी नहीं खली।
बहरहाल अब कुछ नया करने का वक्त है। उम्मीद है आपकी दुआएं यूं ही बनी रहेंगी। बेशक तमाम गलतियां भी होंगी। अपने छोटे भाई का ऐसे समय में मार्गदर्शन जरूर करें।  संपर्क के लिए आप मुझे ईमेल कर सकते हैं।

आपका
मुहम्मद फैज़ान
एडिटोरियल इंचार्ज, यूपीयूकेलाइव न्यूज़ नेटवर्क
faizan@upuklive.com

Related News

Leave a Comment