FB से युवती को फंसाया और शादी के बहाने 2 साल तक यौन शोषण करता रहा सिपाही

नई दिल्ली। उड़ीसा की महिला से फेसबुक पर दोस्ती कर सिपाही द्वारा शादी का झांसा देकर दुराचार कारने का मामला प्रकाश में आया है। थाना पुलिस पीड़िता की सुनवाई करने के बजाय उससे थाने के चककर कटवाती रही। इससे आज्जिज होकर महिला ने नंदगांव चौकी पर बीती रात हंगामा भी किया। हार कर उसने  शिकायत मुख्यमंत्री के पोर्टल पर कर दी।

इस मामले की जानकारी जब एसएसपी शलभ माथुर को हुई तो उन्होंने इसे गंभीरता से लेते हुए सिपाही को लाइन हाजिर कर उसके खिलाफ शादी का झांसा देकर दुराचार करने के मामले में रिपोर्ट दर्ज कराई।

इसके अलावा मामले की जांच सीओ गोवर्धन विजय शंकर को सौंप दी गई है। हिंदुस्तान की रिपोर्ट के अनुसार महिला का मेडीकल कराकर बयान दर्ज कराये जाने के आदेश भी एसएसपी ने दिये गये हैं।

उड़ीसा की महिला को फेसबुक पर सिपाही से दोस्ती करना भारी पड़ गया। पीड़िता की मजबूरी का फायदा उठाते हुए सिपाही ने शादी का झांसा देकर दो साल तक यौन शोषण किया। उसके दो लाख रुपये भी हड़पने के साथ ही अश्लील वीडियो बना पति को भेज दी। पीड़ित महिला सिपाही से शादी के लिये दबाव बनाने लगी तो उसे धमका कर भाग दिया।

पीड़िता के अनुसार फेसबुक के माध्यम से बरसाना थाने में तैनात सिपाही सतीश उसके संपर्क में आया था। धीरे धरी मोबाइल से दोनों बातचीत करने लगे।  जब दोस्ती प्राढ़ हो गयी तो एक दिन सतीश नेउसको राधारानी के धाम की महिमा बता बरसाना बुला लिया। यहां बुलाकर उसके खाने में नशीला पदार्थ मिला दिया। जब वह बेहोश हो गयी तो उसके साथ दुराचार किया।

आरोप है कि सिपाही ने इस दौरान महिला की अश्लील क्लिप भी बनाई । महिला ने जब सपिाही से शादी के लिए दबाव डालते मामले की शिकायत पुलिस से करने की बात कही तो सतीश ने उसे सरकारी राइफल दिखा धमकी दी कि तेरे परिवार का जीवन बर्बाद कर दूंगा। डर की बजह से वह चुप रही। इसके बाद सिपाही महिला का करीब दो साल तक यौन शोषण करता रहा। उसने महिला से दो लाख रुपये भी हड़प लिए। पीड़िता ने फिर से  शादी का दबाव बनाया तो उसने महिला को हड़का कर भगा दिया।

इसके बाद महिला ने चौकी से लेकर थाने तक सिपाही के खिलाफ कार्रवाई  के लिए चक्कर काटती रही लेकिन किसी ने उसकी नहीं सुनी। बताते हैं कि शनिवार रात सिपाही से मिलने नंदगांव चौकी पहुंची पीड़िता को फटकार भगा दिया गया।

इससे आक्रोशित महिला ने चौकी पर करीब एक घंटे तक सिपाही से मिलने के लिए हंगामा करती रही। वहां तैनात अन्य सिपाहियों से महिला को थाने पहुंचाया। रविवार को पीड़िता फिर शाम को थाना में आकर पुलिस से कार्रवाई की मांग करने लगी। महिला की सुनवाई न होने के कारण पीड़ित ने मुख्यमंत्री पोर्टल पर शिकायत दर्ज कराई है।

Related News

Leave a Comment