बर्थडे पार्टी में दोस्तों ने युवती से किया गैंगरेप, धमकी देकर कराया चुप

नई दिल्ली। सुल्तानपुरी इलाके में जन्मदिन की पार्टी में युवती से सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया है। पीड़िता की शिकायत पर राज पार्क थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर एक आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि दूसरे आरोपित की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है।

पीड़ित (24) अपने परिवार के साथ राज पार्क इलाके में रहती है। पीड़ित का शुक्रवार को जन्म दिन था। बताया जाता है कि पीड़ित की दोस्ती सुल्तानपुरी इलाके में रहने वाले आरिश नाम के युवक से थी। जागरण की रिपोर्ट के अनुसार आरिश उसे शुक्रवार की शाम को जन्म दिन की पार्टी के बहाने सुल्तानपुरी स्थित एक मकान में ले गया, जहां उसका दोस्त सावन भी था। पार्टी करने के दौरान सब ने पहले जमकर खाया पीया। इसके बाद दोनों युवकों ने पीड़ित को बंधक बना लिया और उससे दुष्कर्म किया।

पीड़िता ने विरोध किया तो धमकी देकर चुप करा दिया। वारदात के बाद दोनों युवक उसे राज पार्क इलाके में छोड़कर भाग गए। इसके बाद पीड़ित घर आ गई और गुमसुम हो गई तो परिजनों ने इसके बारे में पूछा। पीड़िता ने आपबीती बताई। शनिवार देर रात परिजनों ने मामले की सूचना पुलिस को दी। जांच पड़ताल के बाद राज पार्क थाना पुलिस ने रविवार को आरोपित सावन को गिरफ्तार कर लिया। जबकि दूसरा आरोपित आरिश घर से फरार हो गया।

गुरुग्राम में दूरसंचार क्षेत्र की एक कंपनी में कार्यरत महिला कर्मचारी के साथ छेड़छाड़ का मामला सामने आया है। वारदात कंपनी की ओर 15 मई को आयोजित कॉरपोरेट पार्टी के दौरान हुई। आरोप कंपनी के एक वरिष्ठ अधिकारी पर लगाया गया है। अधिकारी यूके मूल का है। वह वहीं कार्यरत है। आवश्यकता पड़ने पर साल में दो-तीन बार भारत आता है। शिकायत के आधार पर सेक्टर-29 थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी गई है।

शिकायत के मुताबिक पीड़िता असम की रहने वाली है। वह दिल्ली में रहकर डीएलएफ साइबर सिटी स्थित एक कंपनी में काम करती है। 15 मई को सेक्टर-29 स्थित एक रेस्टोरेंट बार में कंपनी की कॉरपोरेट पार्टी थी। पार्टी से निकलकर रात लगभग साढ़े ग्यारह बजे वह वॉशरूम गई थी। उसी दौरान कंपनी में डिपार्टमेंट हेड के पद पर कार्यरत आरोपित ने पकड़ लिया और छेड़छाड़ शुरू कर दी। विरोध करने पर आरोपित चला गया।


पीड़िता ने शिकायत में यह भी कहा है कि उसने घटना के बारे में मैनेजर को बताया तो कहा गया कि पार्टी में ऐसा चलता है। वह इस्तीफा देना चाहती है लेकिन उसे रिलीव नहीं किया जा रहा है। थाना प्रभारी अनिल कुमार का कहना है कि मामला मई महीने का है। जांच की जा रही है। जल्द ही पूरी सच्चाई सामने लाई जाएगी।

Related News

Leave a Comment