जब उम्र में 12 साल छोटे बिलावल संग पाई गई थीं पाकिस्तान की पूर्व विदेश मंत्री

नई दिल्ली। एक तरफ पाकिस्तान आतंकवाद के सहारे नफरत फैला रहा है, वहीं दूसरी तरफ पाकिस्तान की एक पूर्व विदेश मंत्री के मोहब्बत के चर्चे दुनियाभर में खबरों की सुर्खियां बने रहते हैं।

पाकिस्तान के राष्ट्रपति भवन से वायरल हुए इस मोहब्बत के किस्से ने दुनियाभर में तूफान ला दिया था. तब पाकिस्तान की विदेश मंत्री हिना रब्बानी खार और उस समय पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के चेयरमैन बिलावल अली भुट्टो ने कब एक दूसरे के दिलों में मोहब्बत के दरवाजे खोल दिए, इसकी भनक जब लगी तो पाकिस्तान ही नहीं, दुनियाभर के सियासी गलियारों में भूचाल आ गया था।

तब हिना रब्बानी खार पाकिस्तान की विदेश मंत्री थीं. अपनी खूबसूरती के कारण हिना को राजनीति छोड़नी पड़ी थी. क्योंकि उनकी ही पार्टी के अध्यक्ष और उम्र में 12 साल छोटे बिलावल भुट्टो को उनसे इसी खूबसूरती की वजह से प्यार हो गया था।

हिना के पति ने उनको बिलवाल भुट्टो के साथ एक बार आपत्तिजनक हालत में पकड़ लिया था. पाकिस्तान में तब पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी की ही हुकूमत थी. पार्टी अध्यक्ष बिलावल अली भुट्टो और विदेश मंत्री हिना रब्बानी खार कब एक दूसरे के करीब आ गए यह कोई नहीं जान पाया. लेकिन इसका खुलासा बांग्लादेश में हुआ था।

23 साल के बिलावल अली भुट्टो अपने से 12 साल बड़ी हिना की झील जैसी आंखों में इस कदर डूब चुके थे कि पार्टी का अध्यक्ष पद तक छोड़ने के लिए राजी थे. उनके पिता पाकिस्तान के तत्कालीन राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी थे. जरदारी के सामने इन रिश्तों का खुलासा उस वक्त हुआ था, जब हिना रब्बानी खार ने बिलावल को ईद-उल-फितर पर गुलदस्ते के साथ एक खत भेजा था।

खत में हिना ने लिखा था, "कोई शक नहीं कि हमने काफी इंतजार किया है, क्या यह समय इंतजार खत्म करने का नहीं है... ईद मुबारक." इस के बाद राष्ट्रपति निवास में हिना और बिलावल को जरदारी ने आपत्तिजनक हालत में देख लिया था. उन्होंने बिलावल को तब बहुत डांटा था. हिना को भी पद से हटाने की धमकी दी थी।

उस समय बांग्लादेश के वीकली न्यूज पेपट 'टैबलॉयड ब्लिट्ज़' में रिपोर्ट छपी थी कि बिलावल और हिना की मोहब्बत इस मुकाम तक पहुंच चुकी है, जहां से पीछे हटना दोनों के दिलों को गवारा नहीं है. हिना के मोहब्बत की गहराई में बिलावल इस कदर तक उतर चुके थे कि अपनी सियासी ताकत को भी कुर्बान करने के लिए तैयार थे।

दूसरी तरफ विदेश मंत्री हिना भी अपनी मोहब्बत को शादी के खूबसूरत मोड़ पर ले जाने के लिए पागल थीं. वह इसके लिए अपनी कुर्सी तक ठुकराने को तैयार थीं. बिलावल की दिलरुबा बनने के लिए हिना अपने अरबपति शौहर फिरोज गुलजार को भी तलाक देने के लिए तैयार थीं। 

Related News

Leave a Comment