उन्नाव मामला: ICU के बाहर खड़ी मां हर डॉक्टर से पूछती है- साहेब... अब मेरी बिटिया कैसी है?

लखनऊ। उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता रविवार को हुए हादसे के बाद लखनऊ के केजीएमयू में आईसीयू में भर्ती है। डॉक्टरों का कहना है कि उसे वें’टीलेटर पर रखा गया है और उसकी हालत नाजुक है। उसका परिवार 4 दिन से आईसीयू के बाहर खड़ा है। मां बाहर निकलने वाले हर डॉक्टर से पूछती है कि मेरी बिटिया अब कैसी है, कोई तो बताओ अब वो कैसी है।

सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को इस मामले की सुनवाई के दौरान सभी के’सों की दिल्ली ट्रांसफर करने का आदेश दिया। सुप्रीम कोर्ट ने यूपी सरकार से कहा कि पी’ड़िता के परिजनों को सुरक्षा दी जाए और अं’तरिम राहत के तौर पर 25 लाख रुपए का मुआवजा भी दिया जाए।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद केजीएमयू में पीड़िता के परिजनों ने कहा- अब बार-बार यूपी आने की जरूरत नहीं होगी। अगर यह काम पहले ही हो जाता, तो आज यह दिन नहीं देखना पड़ता। जान से मा’रे जाने का जो ड’र था, वह सच हो गया। बिटिया सही हो जाए। हम लोग यूपी में रहेंगे ही नहीं। घटना के बाद ही हम लोग यूपी में नहीं आना चाह रहे थे और हम दिल्ली में ही रहना चाह रहे थे, लेकिन मुकदमे के च’क्कर में यू’पी आना पड़ा। यहां हम लोगों के साथ ऐसा हा’दसा कर दिया गया।

पिता की मौत के बाद पीड़िता के परिवार में मां, चार बहनें और 4 साल का एक भाई है। पीड़िता बहनों में दूसरे नंबर पर है। पीड़िता का 4 साल का भाई भी मां की बगल में बैठे-बैठे आईसीयू के अंदर-बाहर हो रही डॉक्टरों की टीम को निहारता रहता है। पूछता रहता है। दीदी ठीक होकर कब बाहर निकलेगी?

Related News

Leave a Comment