चांद की सतह पर तिरछा गिरा लैंडर विक्रम, लेकिन टूटा नहीं: ISRO

नई दिल्ली।  चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम से जुड़े अनुमानों की सोमवार को तब पुष्टि हो गई, जब इसरो के एक अधिकारी ने कहा कि लैंडिंग के दौरान विक्रम गिरकर तिरछा हो गया है, लेकिन टूटा नहीं है। वह सिंगल पीस में है और उससे संपर्क साधने की पूरी कोशिशें जारी हैं।

इससे पहले इसरो के हवाले से आई खबरों में भी लैंडर के पलट जाने का अनुमान जताया गया था, लेकिन वह टूटा है या नहीं, इसकी जानकारी सामने नहीं आई थी।


इसरो के अधिकारी से एक और नई जानकारी सामने आई है कि लैंडर विक्रम चांद की सतह पर उतरने के लिए तय स्थान से काफी नजदीक उतरा। उसकी लैंडिंग काफी मुश्किलों भरी रही। चंद्रमा की कक्षा में मौजूद चंद्रयान-2 के ऑर्बिटर से इसरो को यह जानकारी मिली है।

7 सितंबर को चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम की चांद पर हार्ड लैंडिंग हुई थी। तब सतह को छूने से सिर्फ 2.1 किमी पहले लैंडर का इसरो से संपर्क टूट गया था। 


Source : upuklive

Related News

Leave a Comment