कभी फुटपाथ पर बेचता था अंडे, आज मल्टीनेशनल कंपनी का अफसर है जावेद

नई दिल्ली। बिहार के पटना में सड़क किनारे अंडे की दुकान पर बैठने वाले जावेद को ऐसा मददगार मिला कि उसकी तकदीर संवर गई। अनपढ़ जावेद स्कूल पहुंच गया। फिर आइआइटी पहुंचा। और अब बहुराष्ट्रीय कंपनी में इंजीनियर है।

पटना के पाटलिपुत्र मुहल्ले की झुग्गी बस्ती में बनी झोपड़ी आज भी जावेद अख्तर का स्थायी पता है, लेकिन उनकी सफलता आसपास के बच्चों को उड़ान भरने की शक्ति दे रही है। और हो भी क्यों न, फुटपाथ पर अंडे बेचने वाले जावेद ने पहले भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, आइआइटी) कानपुर में दाखिला पाया और अब मुंबई स्थित बहुराष्ट्रीय कंपनी में बेहतर नौकरी।

जावेद के परिजन, बस्ती वाले और स्कूल के शिक्षकों सहित जानने-पहचानने वाले सभी लोग उसकी इस सफलता से गर्व महसूस कर रहे हैं। जागरण की रिपोर्ट के अनुसार जावेद कहते हैं, आज जो भी हूं, वह मददगारों की वजह से ही हूं। ब्रदर जेम्स ने स्कूल में दाखिला न कराया होता तो आज पटना के किसी फुटपाथ पर पिता के साथ अंडे बेच रहा होता।

लोयला स्कूल के शिक्षकों ने पढऩे का जज्बा दिया। इंजीनियरिंग के लिए संयुक्त प्रवेश परीक्षा (ज्वाइंट एंट्रेंस एक्जामिनेशन, जेईई) की तैयारी में रहमानी सुपर-30 और कन्हैया सिंह ने भी काफी सहयोग किया।

Related News

Leave a Comment