JNU में छाया कश्मीर का मुद्दा, लोग केवल वहां की लड़कियां लेना चाहते हैं...

नई दिल्ली। जवाहर लाल यूनिवर्सिटी अपना अगला छात्र संघ अध्यक्ष चुनने के लिए तैयार है. इस के क्रम में बुधवार को कैंपस में प्रेसिडेंशियल डिबेट का आयोजन किया गया जिसमें विभिन्न छात्र इकाइयों के उम्मीदवारों ने पूरे जोर-शोर से अपने मुद्दों को छात्रों के बीच रखा।

जेएनयू छात्र संघ का चुनाव शुक्रवार को होना है. प्रेसिडेंशियल डिबेट के दौरान कैंपस के मुद्दों के अलावा धारा 370 हटाने और मॉब लिंचिंग जैसे मुद्दे भी छाए रहे जिसके जरिए उम्मीदवारों ने अपने विरोधियों पर निशाना साधा।

बापसा उम्मीदवार ने आरोप लगाते हुए कहा कि बीजेपी देश में डर का माहौल फैला रही है. उन्होंने कहा कि संघ और बीजेपी ही असल में देश विरोधी हैं. आजतक की रिपोर्ट के अनुसार छात्र राजद उम्मीदवार प्रियंका भारती ने सामान्य वर्ग आरक्षण दिए जाने के मुद्दे पर केंद्र सरकार की आलोचना की।

साथ ही शिक्षा के निजीकरण का आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार देश के पिछड़ों और दलितों को पढ़ने नहीं देना चाहती है क्योंकि हमारी अज्ञानता ही इनके लिए ज्ञान है. प्रियंका ने कहा कि सरकार सिर्फ कश्मीर की जमीन चाहती, लोग वहां की लड़कियां लेना चाहते हैं, उन्हें कश्मीर की आवाम से कोई सरोकार नहीं है। 

Related News

Leave a Comment