कश्मीरी पंडितों का दर्द, पिता की आंखें निकाल लीं, बहन के साथ किया रेप और...

नोएडा। सेक्टर-34 में रहने वाले एक विस्थापित कश्मीरी का दर्द झकझोरने वाला है। जागरण की रिपोर्ट के अनुसार एक बैंक में तैनात विस्थापित कश्मीरी ने बताया कि आतंकियों ने उनके पिता की आंखें निकाल लीं। बहन के साथ दुष्कर्म किया और पूरे परिवार को बर्बाद कर दिया।

19 जनवरी 1990 का वह काला दिन कभी भूला नहीं जा सकता। सामूहिक बलात्कार और लड़कियों के अपहरण किए गए। सभी को यही कहा जा रहा था कि या तो धर्म परिवर्तन कर लो, या कश्मीर छोड़ दो। सरकार के हाथों में सबकुछ होते हुए भी कोई कदम नहीं उठाया गया।

Related News

Leave a Comment