केजरीवाल ने महाराष्ट्र और हरियाणा में बिजली निशुल्क करने की भाजपा को चुनौती दी

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी (आप) के प्रमुख अरविंद केजरीवाल ने रविवार को भाजपा को महाराष्ट्र और हरियाणा में महीने में 200 यूनिट तक बिजली को निशुल्क करने की चुनौती दी। भाजपा शासित इन दोनों राज्यों में अगले कुछ महीनों में चुनाव होने हैं। केजरीवाल ने एक महीने में 200 यूनिट तक खपत करने वाले लोगों को निशुल्क बिजली देने का ऐलान किया था जिसे भाजपा ने चुनावी स्टंट बताया था।
केजरीवाल ने कहा कि अगर भाजपा इन दोनों राज्यों में 'आप' सरकार के फैसले को लागू करती है तो वह लोगों से भगवा दल को वोट देने के लिए कहेंगे। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार दिल्ली में महिलाओं के लिए सार्वजनिक परिवहन को निशुल्क करेगी। अपने आवास पर लोगों को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने कहा कि भाजपा को बिजली की दरों पर 'आप' सरकार की घोषणा पर अपना रुख स्पष्ट करना चाहिए। मुख्यमंत्री ने बुधवार को घोषणा की थी कि जो लोग महीने में 200 यूनिट तक बिजली की खपत करते हैं उन्हें बिजली के बिल का भुगतान नहीं करना होगा। उन्होंने कहा कि जो लोग 201 से 400 यूनिट तक बिजली का उपयोग करते हैं उन्हें राज्य सरकार 50 फीसदी सब्सिडी देगी। केजरीवाल ने कहा, '' कुछ लोग कहते है कि यह केजरीवाल का चुनावी स्टंट है। मैं उनसे (भाजपा से) पूछता हूं कि महाराष्ट्र और हरियाणा में चुनाव हैं, आप वहां पर यह स्टंट क्यों नहीं करते हैं?
 उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा और कांग्रेस दोनों को समझ नहीं आ रहा है कि इस फैसले का स्वागत किया जाए या नहीं। दिल्ली भाजपा प्रमुख मनोज तिवारी समेत अन्य नेताओं और कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव से पहले केजरीवाल की घोषणा को एक 'चुनावी स्टंट' बताया था। केजरीवाल ने कहा, '' पांच साल के बाद सरकारें लोगों के गुस्से का सामना करती हैं लेकिन यह पहली सरकार है जिसने लोगों का ज्यादा सम्मान, प्यार और विश्वास पाया है। यह इसलिए है क्योंकि इसने पिछले पांच साल में लोगों के लिए दिन रात काम किया है।


Source : upuklive

Related News

Leave a Comment