खेलने-कूदने की उम्र में इस तरह शुरू की खुद की कंपनी, कमाते हैं करोड़ों रूपये...


नई दिल्ली। चेन्नई में जन्में दो भाई श्रवण कुमारन और संजय कुमारन को बचपन से ही कम्प्यूटर चलाने में खास रूचि थी।

कुमारन भाईयों को कम्प्यूटर चलाने का इतना चाव था कि वे स्कूल और घर में ज्यादा से ज्यादा समय कम्प्यूटर पर ही बिताते थे। और इसी शौक की बदौलत महज 12 साल के श्रवण कुमारन और 10 साल के संजय कुमारन करोड़ो का टर्नओवर करने वाली कंपनी के सीईओ बन गए।

कम्प्यूटर पर गेम खेलने का शौक रखने वाले कुमारन भाइयों ने और बच्चों की तरह केवल गेम खेलने में ही रूचि नहीं दिखाई, बल्कि इससे आगे बढ़कर खुद का गेम डवलप करने का फैसला किया। साथ ही जब श्रवण 8वीं कक्षा में और संजय 6वीं कक्षा में पढ़ते थे तभी दोनों ने मिलकर कई मोबाइल एप बनाऐ।
कुमारन भाई गेम के क्षेत्र में कुछ अलग करना चाहते थे जिसके लिए उन्होंने एक कंपनी बनाने की योजना बनाई, लेकिन उम्र कम होने की वजह से उनकी कंपनी को रजिस्ट्रेशन नहीं मिला। 
इस असफलता से निराश ना होकर उन्होंने अपने माता-पिता के नाम पर गो डायमेंशन नाम की कंपनी की आधारशिला रखी और इसके बैनर तले कई शानदार मोबाइल एप का निर्माण किया।

Related News

Leave a Comment