गहने बेचकर मधु तुगनैत ने बनाया अनाथ दिव्यांगों के लिए घर

नई दिल्ली। फैशन डिज़ाइनर रह चुकी मधु तुगनैत ने साल 2010 में इन बच्चों के लिए ‘इच्छा फाउंडेशन’ की नींव रखी। आंध्र-प्रदेश के विशाखापटनम से लगभग 54 किमी दूर कोंडकरला गाँव की प्राकृतिक खूबसूरती के बीच बसा यह संगठन, गरीब, अनाथ और कई दिव्यांग बच्चों का घर है, जिन्हें उनके माता-पिता ने छोड़ दिया है। साथ ही, संगठन के उन सदस्य कर्मचारियों का भी, जो दिन-रात पूरे समर्पण के साथ इन बच्चों की देखभाल करते हैं।

केवल 2 बच्चों की देखभाल से शुरू हुआ यह संगठन आज 20 बच्चों के खाने-पीने व रहने के साथ-साथ उनकी मेडिकल फैसिलिटी और पढ़ाई की ज़िम्मेदारी भी संभाल रहा है।

द बेटर इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार 60 वर्षीया मधु बताती हैं कि इन 20 बच्चों में से 10 बच्चे सामान्य हैं, 3 बच्चे शारीरिक तौर पर दिव्यांग हैं और बाकी 7 बच्चों की अवस्था बहुत ही चुनौतीपूर्ण है क्योंकि इन बच्चों को शारीरिक के साथ-साथ मानसिक दिव्यांगता भी है। लेकिन मधु और उनकी टीम के लिए ये बच्चे उनका अपना परिवार हैं। वे इन्हें बेहतर से बेहतर भविष्य देना चाहते हैं।

Related News

Leave a Comment