पूर्व प्रधानमंत्री भी दवा के रूप में 'गौमूत्र' पीते थे: अश्विनी चौबे

पटना। केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे ने रविवार को बताया कि आयुष मंत्रालय गौमूत्र पर शोध कर रहा है। गोमूत्र में कैंसर समेत कई तरह की बीमारियों को ठीक करने की क्षमता होती है।

पूर्व प्रधानमंत्री मोरारजी देसाई भी दवा के रूप में इसका सेवन करते थे। उन्होंने वर्ल्ड फिजियोथेरेपिस्ट डे पर आयोजित एक कार्यक्रम यह दावा किया।

चौबे ने कहा कि कई बार लोग अपने रोगों को ठीक करने के लिए गोमूत्र पीते हैं। हमें इस पर अधिक से अधिक शोध की जरूरत है। गोमूत्र का इस्तेमाल कई तरह की दवा बनाने में किया जाता है। उन्होंने कहा कि सरकार गायों के संरक्षण की दिशा में भी काम कर रही है।

मधुमेह और कैंसर जैसी बीमारियों पर चिंता व्यक्त करते हुए चौबे ने कहा कि यह पूरी दुनिया के लिए चुनौती है। हम इसे पूरी तरह खत्म करने के दावा नहीं कर सकते हैं। लेकिन इसे नियंत्रित जरूर कर सकते हैं।

इसके लिए केंद्र सरकार ने 2030 तक का लक्ष्य रखा है। उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य मंत्रालय कैंसर के उपचार को आयुष्मान भारत योजना में शामिल करने के प्रस्ताव पर विचार कर रहा है।


Source : upuklive

Related News

Leave a Comment