शिक्षा सत्र 2020-21 से राजस्थान में भी लागू होगा ये पाठ्यक्रम, इससे विद्यार्थियों को मिलेगा प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता का आधार

जयपुर। राजस्थान सरकार अब शिक्षा सत्र 2020-21 से राजकीय एवं संबद्ध विद्यालयों में कक्षा 6 से 8 में एनसीईआरटी पाठ्यक्रम की हिन्दी और अंग्रेजी माध्यम की पुस्तकों को लागू करेंगी। राज्य सरकार ने इस प्रकार का निर्णय राज्य में पाठ्यक्रम समीक्षा समितियों की सिफारिश पर विद्यार्थी हित को ध्यान में हुए लिया है। शिक्षा राज्य मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने इस प्रकार की जानकारी दी है।

शिक्षा के क्षेत्र में ऐसा करने वाला देश का पहला राज्य बना राजस्थान

डोटासरा ने एक कार्यक्रम में इस प्रकार घोषणा करते हुए बताया कि शिक्षाविदों की गठित समितियों की सिफारिश के आधार पर राज्य में ऐसे पाठ्यक्रम को वरीयता दी जा रही है जो विद्यार्थियों के ज्ञानवद्र्धन के साथ ही भविष्य में उन्हें प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता का आधार प्रदान करें।

शिक्षा राज्य मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने बताया कि सत्र 2020-21 में कक्षा 6 से 8 में एससीईआरटी द्वारा तैयार ;हमारा राजस्थान शीर्षक की नवीन तीन पुस्तकों के तीन भाग यथा ;हमारा राजस्थान भाग प्रथम, द्वितीय और तृतीय क्रमश: कक्षा 6, 7 और 8 में लागू की जाएगी।

अब राजस्थान सरकार प्रदेश के सभी विद्यालयों में करने जा रही है ये अनोखी पहल, इससे विद्यार्थियों को मिलेगा बड़ा लाभ

इस दौरान उन्होंने बताया कि शिक्षा सत्र 2020-21 से कक्षा 9 एवं कक्षा 11 में एनसीईआरटी की हिन्दी एवं अंग्रेजी माध्यम की पुस्तकें लागू की जाएगी। कक्षा 10 एवं 12 में सत्र 2020-21 में वर्तमान में संचालित पाठ्यक्रम को बरकरार रखा जाएगा, लेकिन सत्र 2021-22 से इन कक्षाओं में एनसीईआरटी पाठ्यक्रम की पुस्तकें लागू की जाएगी।

Related News

Leave a Comment