हमारी खबर का असर: 'जागे जिम्मेदार, दूर हुआ संकट का साया'

राम मिश्रा, अमेठी।  जिले के मुसाफिरखाना विकास खण्ड अंतर्गत 'धरौली-नया कोट मार्ग' पर स्थित प्राथमिक विद्यालय गल्लामंडी परिसर में बांस के बल्ले से बिजली आपूर्ति होने की खबर ‘UPUKLive' में प्रकाशित होने के बाद जिम्मेदारो की नींद आखिरकार खुल गई और बिजली विभाग सहित शिक्षा विभाग के अधिकारी भी विद्यालय पहुँच गए। बता दें कि विगत कई महीनों से बांस के बल्ले पर बिजली आपूर्ति होने की खबर बीते 28 जुलाई को ‘मौत के सायें में क ख ग पढ़ रहे मासूम,महकमा मौन'.....,शीर्षक से खबर प्रमुखता से प्रकशित की गई थी।

UPUKLive में खबर के प्रकाशित होने 48 घण्टे के भीतर ही बिजली विभाग के अधिकारी और कर्मी सहित शिक्षा विभाग के अधिकारी भी मौके पर पहुँच गए और बिजली का कनेक्शन कट कर जर्जर बांस के बल्ले सहित तार को भी हटाया गया.

प्राचार्य ने कहा- धन्यवाद यूपीयूकेलाइव:
प्राथमिक विद्यालय गल्लामंडी मुसाफिरखाना के प्राचार्य रमेश कुमार ने बताया कि विद्यालय में करीब 103 बच्चो का नामांकन है और विद्यालय परिसर से ही जर्जर बांस के बल्ले के सहारे ही पास स्थित घरो में विद्युत आपूर्ति की जा रही थी इसके चलते स्कूली बच्चों के ऊपर अक्सर खतरा मंडरा रहा था जिसकी लिखित शिकायत भी की गई थी लेकिन कोई सुनवाई नही हुई प्राचार्य रमेश कुमार ने बताया कि बीते 29 जुलाई को विद्यालय पहुँचे बिजली विभाग के अधिकारियो ने बांस के बल्ले और जर्जर तार को हटवाया जिसके बाद हम लोगो ने अब राहत की सांस ली प्राचार्य ने इसे  UPUKLive की खबर का असर बताते हुए धन्यवाद भी ज्ञापित किया.

Related News

Leave a Comment