साउंड ऑफ वॉटरसाउंड ऑफ वॉटर, की कहानी हमारे जीवन में आने वाली पानी की समस्या को दर्शाती है- श्रवण कुमार राठौर , की कहानी हमारे जीवन में आने वाली पानी की समस्या को दर्शाती है- श्रवण कुमार राठौर

फिल्ममेकर श्रवण कुमार राठौर का कहना हैं कि उनकी अवॉर्ड विनिंग फिल्म, साउंड ऑफ वॉटर, सिर्फ एक कहानी ही नहीं है, बल्कि हमारे जीवन में आने वाली पानी की समस्या को दर्शाती है, और साथ ही इसका समाधान भी बताती है। नेशनल और इंटरनेशनल अवॉर्ड लेवल पर अवॉर्ड जीतने के बाद, श्रवण कुमार राठौर की फिल्म साउंड ऑफ वॉटर, का प्रीमियर कल रात मुंबई में हुआ। प्रीमियर में कास्ट और क्रू के साथ-साथ कई हस्तियों भी मौजूद रही।

 

 

फिल्म के प्रीमियर और रिलीज के बारे में बात करते हुए, श्रवण ने कहा, “मैं अपनी फिल्म से बहुत खुश हूं, इसलिए सेंसर सर्टिफिकेट मिलने से पहले मैंने अपनी फिल्म को फिल्म फेस्टिवल में भेजा। अब तक, मैंने नेशनल और इंटरनेशनल लेवल पर 5 अवॉर्ड जीते हैं। अब मेरी फ़िल्म रिलीज हो चुकी है और जिस तरह का आम पब्लिक से रिस्पॉन्स आ रहा है उस मैं बहुत खुश हूँ...

 

 

“मेरी फिल्म सिर्फ एक कहानी नहीं है, बल्कि हमने इसके जरिए पानी की समस्या को हल करने की कोशिश की है। यदि हम अभी इस समस्या के लिए कुछ नहीं करते हैं, तो हमारे पास फ्यूचर में पैसा हो सकता है लेकिन पानी नहीं रहेगा।”

 

 

फिल्म की कहानी श्रवण राठौर कुमार ने लिखी है, डायरेक्ट और प्रोड्यूस भी श्रवण ने ही किया है। फिल्म में अबराम पांडे, जशप्रीत कौर, सलीम खान, चंद्रशेखर चौहान, रमेश गोयल और मधुर कुमार हैं।

 

 

फिल्म की कहानी के बारे में बात करते हुए, श्रवण ने कहा, “एक डायरेक्टर और प्रोड्यूसर होने से पहले, मैं रायपुर में मुंसिपल कॉर्पोरेशन में संयुक्त आयुक्त के रूप में एक गवर्नमेंट ऑफिसर था, तो मैंने पानी से रिलेटेड मुद्दों को बहुत ही करीब से देखा है। यह देखकर मेरा दिल दुखी हो गया कि इतना पानी बर्बाद हो रहा है और हम इसके लिए कुछ उपाय नहीं कर रहे है।”

 

 

“मैंने पानी की समस्या को जनता तक पहुँचाने के लिए अपनी पूरी कोशिश की, लेकिन वह अच्छे से नहीं पहुंच पायीं। और फिर मैंने इस सब्जेक्ट पर एक फिल्म बनाने के बारे में सोचा। इसलिए मैंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया, फिर कहानी लिखने और इसकी तैयारी करने में दो साल लग गए। एक साल पहले मैंने कास्टिंग पर काम करना शुरू किया और मैं इसके लिए मुंबई में ही शिफ्ट हो गया। मुंबई में लोगों ने मेरी बहुत मदद की। इसलिए मैंने कुछ आर्टिस्ट को यहां से और कुछ को छत्तीसगढ़ से लिया और यह फिल्म बनाई।" 

 

फिल्म 13 दिसंबर 2019 को  देशभर के सिनेमा घरो में रिलीज हो चुकी है ।

 



Source : News Helpline

Related News

Leave a Comment