लोग कहते थे तुम्हें क्या पता फिल्म बनना- शेफ विकास खन्ना

इंडिया के मशहूर शेफ विकास खन्ना की पहली ही फिल्म ‘द लास्ट कलर’ ऑस्कर पुरस्कार की फीचर फिल्म की सूची में जगह बनाई है। इस फिल्म में नीना गुप्ता ने मुख्य किरदार निभाया है। यह फिल्म वृंदावन और वाराणसी में रहने वाली विधवाओं की जिंदगी पर आधारित है।
 
फिल्म द लास्ट कलर ऑस्कर के लिए क्वालीफाई कर चुकी है, इस अवसर पर विकास ने मीडिया से खास बातचीत की। उन्होंने बताया कि इस फिल्म को बनाने में उन्हें किस तरह के समस्याओं का सामना करना पड़ा था, लोग कहते थे तुम्हें क्या पता फिल्म बनाना, कोई मेरी टीम को ज्वाइन नहीं करना चाहता था। 
 
विकास खन्ना ने कहा, "शुरू में सबसे बड़ी समस्या यही थी कि जब मैं किसी के पास मिलने जाता था, और कहता था कि मुझे मदद की जरूरत है तो सब कहते थे 'अरे! तुम्हें क्या पता फिल्म बनाना'। मैनें डॉक्यूमेंट्री बनाई है, लेकिन फिल्म नही बनाई थी। जैसे कि नीना गुप्ता हमेशा कहती है कि 'फिल्म दिल से बनती है' और फिल्म बनाने के लिए मेरे पास दिल है, और मैं ये फिल्म बनाऊंगा जरूर। बहुत से लोगों ने मेरी टीम को ज्वाइन करने से मना कर दिया। बहुत से लोग कहते थे कि ये कैसी फिल्म है कि 'एक 60 साल की विधवा औरत है, और एक छोटी सी लड़की है अछूत जो रस्सी पर चलती है'; ये कैसी कहानी है और इसका कोई हीरो भी नही है, तब मैं कहता था, कहानी तो है और नीना जी और उसकी दोस्ती ही हीरो है। फिर भी लोग मेरे साथ काम नहीं करना चाहते थे।"
 
"मैंने बहुत से लोगों को अप्रोच किया। जिनके साथ मैं काम करना चाहता था, उसकी पूरी लिस्ट मैनें बनाई थी। लेकिन उन्होंने कहा कि मुझे आप पर भरोसा नहीं है। इससे मैंने ये एक चीज महसूस किया कि यदि आप कुछ नया शुरू करते हो और आप के ऊपर कोई विश्वास नही करता है तो इट्स ओके। लेकिन आपको खुद पर विश्वास होना चाहिए। आपको विश्वास रखना चाहिए कि चमत्कार होगा, सबकुछ मेरी तरफ ही आएगा, आज जो चीजें मुझे गिरा रही है वहीं बाद में मेरी मदद करेंगी, तो अपना सर सीधे रखें और चलते रहे क्योंकि मंजिल दूर होगी पर कभी ना कभी आ ही जाएगी।"



Source : News Helpline

Related News

Leave a Comment