स्टार बनने से पहले पैसे की खातिर खून बेचती थी निकोल शेर्जिंगर

अमेरिका की पॉप सिंगर और कंपोजर निकोल शेर्जिंगर आज करोड़ों की मालनिक है, लेकिन एक वक्त ऐसा भी था जब उनके पास अपनी पढ़ाई को पूरा करने के लिए पैसे नहीं थे। पैसों के लिए उन्हें अपना खून बेचना पड़ता था।

वेबसाइट 'फीमेलफर्स्ट डॉट कॉ डॉट यूके' ने अपनी रिपोर्ट में इसका खुलासा किया है कि निकोल शेर्जिंगर सिंगर बनने से पहले काफी संघर्ष किया। निकोल शेर्जिंगर हॉलीवुड फिल्म स्लमडॉग मिलियनेयर के गाने जय हो के पॉप वर्जन में नजर आईं थीं। उस गाने से उन्हें काफी प्रसिद्धी मिली थी।

वेबसाइट के मुताबिक निकोल शेर्जिंगर ने खुद एक इंटरव्यू में ये बात कबूली थी कि पैसे कमाने के लिए अपना खून तक बेचा करती थीं। उस वक्त उनके पास पढाई पूरा करने के लिए और अपने सपने को सच करने के लिए उनके परिवार के पास पैसे नहीं थे। इसलिए उन्हें ऐसा करना पड़ता था।

कॉस्मोपॉलिटन मैगजीन के साथ इंटरव्यू के दौरान निकोल शेर्जिंगर में कहा था कि उनके परिवार के पास उन्हें पढ़ाने तक के पैसे नहीं थे। इसके लिए उन्हें अपना खून बेचना पड़ता था, ताकि वो अपनी पढ़ाई को पूरा कर सके।

निकोल शेर्जिंगरने बताया कि परिवार की आमदनी कम थी इसलिए पढ़ाई के साथ-साथ उन्होंने काम करना भी शुरू कर दिया। बेहद मामूली सैलरी में वो काम करती थी। उन्होंने बताया कि कॉलेज की पढ़ाई करने के लिए उन्होंने मेकअप काउंटर पर काम किया। उन्होंने मैकेरोनी ग्रिल नाम के इटालियन रेस्टोरेंट में ओपेरा गाया। ताकि वो परिवार की मदद कर सके और अपनी पढ़ाई को पूरी कर सके।

शेर्जिगर ने कहा कि वो बेहद गरीब थी। कॉलेज की सबसे गरीब लड़की थी, लेकिन उन्होंने अपना सपना पूरी करने के लिए संघर्ष किया। उन्हें अपने संघर्ष पर गर्व है। वो कहती हैं कि उन्हें अपने परिवार से बेहद प्यार है और परिवारवाले भी उन्हें बहुत प्यार करते हैं।

Related News

Leave a Comment