निर्मोही अखाड़े का दावा- विवादित परिसर के अंदरूनी हिस्‍से पर था हमारा कब्‍जा

राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद मामले में सुप्रीम कोर्ट आज से रोजाना सुनवाई करेगा. मध्यस्थता के जरिए विवाद का कोई हल निकालने का प्रयास असफल होने के बाद सुप्रीम कोर्ट ने यह फैसला लिया है. यह सुनवाई हफ्ते में तीन दिन मंगलवार, बुधवार और गुरुवार को होगी।

चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली 5 सदस्यीय संवैधानिक पीठ इस मामले की सुनवाई करेगी. इस पीठ में जस्टिस एस. ए. बोबडे, जस्टिस डी. वाई. चंद्रचूड़, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस एस. ए. नजीर भी शामिल हैं।

मध्यस्थता समिति ने 1 अगस्त को सुप्रीम कोर्ट में सीलबंद लिफाफे में फाइनल रिपोर्ट पेश की थी. उसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने रिपोर्ट के हवाले से बताया कि मध्यस्थता समिति के जरिए मामले का कोई हल नहीं निकाला जा सका है. उसके बाद पीठ ने तय किया कि मंगलवार यानी 6 अगस्‍त से मामले की रोजाना सुनवाई होगी।

न्यूज़ स्टेट के अनुसार निर्मोही अखाड़े की ओर से सुशील जैन ने कहा, विवादित परिसर के अंदरूनी हिस्से पर पहले हमारा कब्ज़ा था, जिसे दूसरे ने बलपूर्वक कब्ज़े में ले लिया. बाहरी पर पहले विवाद नहीं था. 1961 से उस पर विवाद शुरू हुआ। 

Related News

Leave a Comment