NRC के खिलाफ ममता का बड़ा ऐलान...

नई दिल्ली। राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) की अंतिम सूची आने के बाद सियासत में उथलपुथल की स्थिति बनी हुई है. इस सूची में लगभग 19 लाख लोगों का नाम नहीं है.

ऐसे में लोगों पर खतरा मंडरा रहा है कि वह क्या करें. इस बीच, एनआरसी सूची को लेकर राजनीति शुरू हो गई है. पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने एनआरसी के खिलाफ प्रदर्शन की घोषणा कर दी है. ममता 12 सितंबर को कोलकाता में मार्च निकालने वाली हैं.

ममता बनर्जी ने असम में राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) से लगभग 19 लाख लोगों को बाहर किए जाने को लेकर सख्त प्रतिक्रिया व्यक्त की थी. उन्होंने रविवार को कहा है कि पहले मुझे एनआरसी की विफलता की जानकारी नहीं थी.

जैसे जैसे जानकारी सामने आ रही है हम यह देखकर आश्चर्यचकित है कि एक लाख से ज्यादा गोरखा लोगों को इस लिस्ट से बाहर कर दिया गया है. सीआरपीएफ और अन्य जवानों समेत हजारों असली भारतीयों के नामों को एनआरसी से बाहर कर दिया गया है.

ममता बनर्जी ने कहा कि एनआरसी की अंतिम लिस्ट से बाहर रह जाने वालों में पूर्व राष्ट्रपति फखरुद्दीन अली अहमद के परिवार के सदस्य भी शामिल हैं. ममता ने कहा कि सरकार को यह ख्याल रखना चाहिए कि जो हकीकत में भारतीय हैं, उन्हें NRC से बाहर नहीं किया जाना चाहिए. हमारे सभी वास्तविक भारतीय भाइयों और बहनों के साथ इंसाफ होना चाहिए.

Related News

Leave a Comment