परियोजनाओं को पर्यावरण मंजूरी देने की प्रक्रिया को पांच गुना तेज बनाया गया : जावडेकर

नई दिल्ली। पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री प्रकाश जावडेकर ने कहा है कि पर्यावरण मानकों को पूरा करने वाली विकास एवं औद्योगिक परियोजनाओं को पर्यावरण मंजूरी देने की प्रक्रिया को पहले की तुलना में पांच गुना तेज बनाते हुये इसमें लगने वाले 680 दिन के समय को घटाकर 108 दिन कर दिया गया है।

औद्योगिक संगठन भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) की शुक्रवार को आयोजित राष्ट्रीय परिषद की बैठक में जावडेकर ने कहा कि सरकार पर्यावरण मंजूरी की अवधि को लगातार कम करने के लिये प्रक्रिया को त्वरित बना रही है। उन्होंने उद्योग जगत को यह अवधि दो से तीन महीना करने का अश्वासन दिया।

जावडेकर ने कहा, ''इससे पहले पर्यावरण मंत्रालय को टेक्स मंत्रालय या मार्ग में रोड़े अटकाने वाला मंत्रालय के रूप में जाना जाता था। तब ऐसा माहौल था जिसमें विकास संभव ही नहीं दिखता था। लेकिन हमारी सरकार ने इस प्रकार की कार्य संस्कृति विकसित की है जिससे यह लगने लगा है कि विकास और पर्यावरण संरक्षण एक साथ चल सकते हैं।

उन्होंने कहा, ''पहले किसी परियोजना को पर्यावरण मंजूरी मिलने में औसतन 640 दिन लगते थे। दो साल के पर्यावरण मंत्री के कार्यकाल में मैंने इस अवधि को घटाकर 180 दिन किया था और फिर इसे 108 दिन कर दिया गया। मेरा वादा है कि अब इसे दो से तीन महीना कर दिया जायेगा।

जावडेकर ने बैठक में मौजूद सौ से अधिक उद्योगपतियों को भरोसा दिलाया कि विकास और पर्यावरण संरक्षण एक साथ चल सकते हैं और इस बाबत उन्होंने उद्योगपतियों से सहयोग एवं सुझाव देने का आह्वान किया।

Related News

Leave a Comment