भारत के प्रधानमंत्री होने का हक अदा कर रहे PM मोदी: मीनाक्षी लेखी

नई दिल्ली। लोकसभा में आज यानी गुरुवार को तीन तलाक बिल पेश हो गया है। बिल पर चर्चा के दौरान केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद नेक कहा कि महिलाओं के साथ न्याय संविधान का मूल दर्शन है।

उन्होंने कहा कि महिलाओं को न्याय दिलाना उनका अहम विषय है। उन्होंने विपक्षी दलों से तीन तलाक बिल को सियासी चश्मे से न देखने की अपील की। उन्होंने कहा कि यह धर्म और सियासत का मामला नहीं है। इसको इंसाफ और इंसानियत की नजरों से देखा जाना चाहिए।

वहीं, लोकसभा में भाजपा की सांसद मीनाक्षी लेखी ने कि पूर्व प्रधानमंत्री पडित जवाहर लाल नेहरू ही की तरह पीएम मोदी के सामने धार्मिक देश में धर्म निरपेक्ष राज्य बनाने की चुनौती है। लेखी ने कहा कि धार्मिक कानून पूरी तरह से गलत है और इस सोच को बदलना चाहिए।

बाबा साहब का जिक्र करते हुए भाजपा सांसद ने कहा कि वह हिन्दू कानूनों पर रोक लगाना चाहते है। यही कारण है कि उन्होंने फिर बाद में कांग्रेस छोड़ दी। लेखी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत के प्रधानमंत्री होने का हक अदा कर रहे हैं। लेकिन अफसोस की बात यह है कि पूर्व पीएम नेहरू के बाद राजीव गांधी ने ऐसा नहीं किया। इस दौरान अखिलेश यादव और मीनाक्षी लेखी के बीच तीखी बहस भी हुई।

Related News

Leave a Comment