विधानसभा में पोर्न देखने वाले उप मुख्यमंत्री को हटाने की मांग

कर्नाटक महिला कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने शनिवार को बेंगलुरु में उप मुख्यमंत्री लक्ष्मण सावदी को बर्खा’स्त करने की मांग को लेकर प्रदर्शन किया।उन्होंने मार्च करते हुए अपनी आपत्ति जताई। इस प्रदर्शन के माध्यम से महिला कांग्रेस भाजपा को संदेश देना चाहती है कि ऐसे व्यक्ति को राज्य के उप मुख्यमंत्री के रूप में नहीं देखा जा सकता, जिसे विधानसभा की मर्यादा का खयाल ही न हो।

विरोध प्रदर्शन में उपस्थित, कांग्रेस नेता पुष्पा अमरनाथ ने कहा, “उप मुख्यमंत्री लक्ष्मण सावदी राज्य विधानसभा (2012 में) में पोर्न देखते हुए पकड़े गए थे, हम भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और पीएम मोदी से उन्हें बर्खा’स्त करने का आग्रह करते हैं।”

2012 में, जे कृष्णा पलेमार के साथ सावदी और पाटिल को विधानसभा में एक अश्ली’ल वीडियो क्लिप देखते हुए पकड़ा गया था। बाद में, सावदी ने इसपर सफाई भी दी थी। उन्होंने कहा  कि वे शैक्षिक उद्देश्य से पो’र्न देख रहे थे। उनका उद्देश्य किसी की मर्यादा को ठेस पहुंचाना नहीं है।

गौरतलब है कि लक्ष्मण सावदी न तो विधान सभा के सदस्य हैं और न ही विधान परिषद के सदस्य हैं, लेकिन उन्हें उप मुख्यमंत्री के रूप में नियुक्त किया गया है।

सावदी ने कथित तौर पर कांग्रेस और जद (एस) की गठबंधन सरकार को अस्थिर करने में प्रमुख भूमिका निभाई। सावदी अयोग्य विधायक रमेश जारकीहोली के करीबी दोस्त भी हैं, जिन्होंने एचडी कुमारस्वामी के नेतृत्व वाली सरकार को अस्थिर करने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।

Related News

Leave a Comment