दलित विधायक ने जिस PWD कार्यालय में दिया धरना, गौमूत्र से किया गया उसका ‘शुद्धिकरण’

केरल की कम्युनिस्ट पार्टी (CPI) की दलित महिला विधायक ने राज्य के कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं पर जातिगत भेदभाव का आरोप लगाया है।

विधायक ने कहा कि जिस PWD के कार्यालय में उन्होंने स्थानीय समस्याओं को लेकर विरोध प्रदर्शन किया था, उसे उनके जाने के बाद गौ’मूत्र से साफ कराया गया। पुलिस ने बताया कि महिला विधायक के आरोपों के आधार पर मा’मला दर्ज किया गया है, जिसकी जांच की जा रही है।

गीता गोपी सीपीआई पार्टी की नट्टिका निर्वाचन क्षेत्र से विधायक हैं। गोपी ने शनिवार को अपने क्षेत्र में सड़कों की खराब स्थिति के खिलाफ पीडब्ल्यूडी कार्यालय के सामने धरना दिया था इसके बाद कांग्रेस की यूथ इकाई के कार्यकर्ताओं ने कार्यालय को कथित रूप से पवित्र और शुद्ध करने के लिए कार्यालय को गौमूत्र से साफ कराया गया। गोपी के कार्यालय से चले जाने के बाद, यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने गोबर का पानी छिड़क कर “शुद्धिकरण” अनुष्ठान किया।

विधायक ने पुलिस में शि’कायत द’र्ज कराते हुए आ’रोप लगाया है कि उन्हें युवा कांग्रेस सदस्यों से जाति आधारित भे’दभाव और दु’र्व्यवहार का सामना करना पड़ा।

Related News

Leave a Comment