संस्कृत शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए सरकार संकल्पबद्धः शिक्षा मंत्री

इंटरनेट डेस्क। राजस्थान में शिक्षा के बढ़ावा देने के लिए सरकार की और से हर तरह के प्रयास किए जा रहे है। चाहे स्कूल हो, काॅलेज हो या फिर विश्वविद्यालय हो हर जगहों पर विद्यार्थियों के लिए नवाचार किए जा रहे है और कैसे उनकों गुणवत्तापूर्ण शिक्षा मिले इसके प्रयास किए जा रहे है।

उच्च शिक्षा के क्षेत्र में राज्यपाल लालजी टंडन का रहा महत्वपूर्ण योगदान

इधर राजस्थान के संस्कृत शिक्षा राज्य मंत्री सुभाष गर्ग ने विधानसभा में बताया कि सरकार संस्कृत शिक्षा एवं भाषा को प्रोत्साहन देने के लिए संकल्पबद्ध है।

गर्ग प्रश्नकाल में विधायकों के पूरक प्रश्नों का जवाब दे रहे थे। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार के नीतिगत दस्तावेज जनघोषणा पत्र में संस्कृत शिक्षा एवं भाषा को प्रोत्साहन देने एवं वैदिक शिक्षा एवं संस्कार बोर्ड की स्थापना करना प्रस्तावित है।

राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड ने इन चार परीक्षाओं के परिणाम किए घोषित, यहां देखे जा सकते हैं परिणाम

सुभाष गर्ग ने बताया कि संस्कृत शिक्षा विभाग के अधीन एक हजार 797 राजकीय एवं 496 अराजकीय विद्यालय अथवा महाविद्यालय संचालित है। उन्होंने जिलेवार विवरण सदन के पटल पर रखा।

Related News

Leave a Comment