बच्चों ने रद्दी सामान से बनाई खूबसूरत राखियां

राम मिश्रा, अमेठी। रक्षा बंधन  में भाई-बहन के प्यार की डोर मजबूती से जुड़ जाती है पूरे साल भले ही भाई-बहन एक दूसरे से लड़ते हों, लेकिन रक्षा बंधन का त्यौहार आने पर वे एक-दूसरे को गले लगा लेते हैं अगर बहन अलग रहती है और रक्षा बंधन पर वह भाई को अपने हाथों से राखी नहीं बांध पाती तो उसका दिल मायूस हो जाता है अगर आप अपने भाई को अपने हाथों से राखी बना कर बांधेंगी या भेजेंगी तो वह इस दिन को कभी नहीं भूलेगा।

इसी क्रम में अमेठी जिले मुसाफिरखाना विकासखण्ड अन्तर्गत उच्च माध्यमिक विद्यालय मानशाहपुर में राखी बनाओ कार्यशाला में करीब दर्जन भर छात्राओं ने राखी बनाना सीखा विद्यालय में सहायक अध्यापक कंचन मौर्य ने विद्यालय में बालिकाओं को रेशम के धागे, रंगीन चमकीले मोटे धागे, कलावा, छोटे-छोटे बनावटी फूल और शादी के पुराने कार्ड से आकर्षक राखियां बनाने का प्रशिक्षण दिया। बालिकाओं ने बड़े ही उत्साह से विभिन्न डिजाइन की राखियां बनाईं अध्यापिका कंचन ने बताया कि  छात्राओ काे सस्ती और सुंदर राखियां बनाना सिखाया गया और बालिकाओं द्वारा बनाई गई राखियां रक्षाबंधन पर्व पर भाइयों की कलाइयां सजेंगी।

छात्रा अंजली (कक्षा 7),शिवा नंदिनी (कक्षा 8),खुशी (कक्षा 8),काजल (कक्षा 7),अंजली (कक्षा 7),रीना (कक्षा 8),सहित कई छात्राओ ने इस कार्यशाला में हिस्सा लिया।

Related News

Leave a Comment