शिक्षिका से दुष्कर्म करने, जान से मारने की धमकी देने वाले आरोपी को उम्रकैद की सजा

हरिद्वार। निजी स्कूल की शिक्षिका से निकाह का झांसा देकर दुष्कर्म करने, गाली-गलौज और जान से मारने की धमकी देने के मामले में जिला जज वीबी भारती शर्मा ने एक युवक को दोषी करार दिया है। जिला जज कोर्ट ने दोषी युवक को उम्रकैद और पच्चीस हजार रुपये के अर्थदंड की सजा सुनाई है।

शासकीय अधिवक्ता इन्द्र पाल बेदी ने बताया कि 22 सितंबर 2015 को एसएसपी को एक शिकायत दी गई थी। शिकायतकर्ता महिला ने बताया था कि उसकी बीस वर्षीय पुत्री एक निजी स्कूल में दो वर्ष से बच्चों को पढ़ाने जाती है। स्कूल के पास ही आरोपी युवक बिजली की दुकान करता है। उसने उसकी पुत्री से दोस्ती कर ली थी। इसके बाद से आरोपी युवक निकाह का झांसा देकर उसकी पुत्री से शारीरिक संबंध बनाता रहा। जब भी उसकी पुत्री ने उसे निकाह के लिए कहा तो कोई न कोई बहाना बना देता।

एक दिन उसकी पुत्री ने आरोपी को निकाह करने के लिए जोर दिया था। जिसपर आरोपी ने निकाह करने से इंकार कर दिया। इसके बाद पीडि़ता घबराई हालत में घर पहुंची थी। शिक्षिका की मां की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी शौकीन पुत्र अब्दुल सलाम निवासी मोहल्ला पांवधोई ज्वालापुर के खिलाफ कोतवाली ज्वालापुर में निकाह का झांसा देकर दुष्कर्म करने, गाली गलौज और जान से मारने की धमकी देने का केस दर्ज कराया था।

पीडि़त ने पहले लोकलाज के डर से घटना के बारे में परिजनों को नहीं बताया था। मामले में कार्रवाई करते हुए पुलिस ने युवक शौकीन को जेल भेज दिया था। पुलिस ने केस की विवेचना कर युवक के खिलाफ कोर्ट में आरोपपत्र दाखिल किया था। जिला जज कोर्ट ने दोषी युवक पर दुष्कर्म, गाली-गलौज और धमकी देने का आरोप तय किए थे। सरकारी पक्ष की ओर से छह गवाह पेश किए गए।
-सांकेतिक तस्वीर 


Source : upuklive

Related News

Leave a Comment