एक व्यक्ति एक पद पर फैसला सोनिया गांधी करेंगी: सचिन पायलट

एसपी मित्तल
राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष और डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने स्पष्ट कर दिया है कि पिछले कुछ दिनों से जो लोग एक व्यक्ति एक पद की मांग कर रहे हैं, वह उनके राजनीतिक कद को देखते हुए बेमानी है। पायलट ने सात सितम्बर को जयपुर में पार्टी मुख्यालय पर अपना 42वां जन्मदिन धूमधाम से मनाया। प्रदेश में कांग्रेस सरकार के गठन के बाद पहली बार पायलट का जन्मदिन आया है।

इस मौके पर मीडिया से संवाद करते हुए पायलट ने कहा कि एक व्यक्ति एक पद पर फैसला कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी को करना है। यदि श्रीमती गांधी कहेंगी तो मैं एक पद छोड़ दूंगा। मुझे श्रीमती गांधी का फैसला मंजूर होगा। लेकिन पायलट ने अपने जवाब में यह भी जोड़ा की पांच वर्ष पहले जब मुझे प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया तब राजस्थान में कांग्रेस के मात्र 21 विधायक थे।

कार्यकर्ताओं में निराशा का माहौल था, लेकिन मैंने कार्यकतर्काओं को जो दिलाया और संगठन को मजबूती दी। कार्यकर्ता के बूते पर ही प्रदेश में दोबारा से कांग्रेस की सरकार बनी है। हमें कार्यकर्ताओं को हमेशा सम्मान देना चाहिए। पायलट का यह भी ताजा राजनीतिक हालातों में बहुत मायने  रखता है। राजस्थान में पिछले कुछ दिनों से पायलट को निशाना बनाकर एक व्यक्ति एक पद की मांग की जा रही है। राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने भी एक व्यक्ति एक पद की बात कही। वहीं प्रदेश प्रभारी और राष्ट्रीय महासचिव अविनाश पांडे ने स्थाई अध्यक्ष की नियुक्ति की बात कही है। ऐसे में यह माना जा रहा है कि सचिन पायलट से एक पद वापस लिया जाएगा। पायलट को डिप्टी सीएम या प्रदेश अध्यक्ष में से एक पद मिलेगा।

कानून व्यवस्था पर चिंता जताई
पायलट ने प्रदेश की कानून व्यवस्था को लेकर भी चिंता जताई। पायलट ने कहा कि जिस तरह से धौलपुर अलवर आदि की घटनाएं हुई है वो गंभीर है। मुझे उम्मीद है कि जल्द ही ऐसी घटनाओं पर रोक लगेगी। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रामेश्वरी डूडी की हत्या की साजिश की खबरों पर भी पायलट ने नाराजगी जताई। उन्होंने कहा कि गृह मंत्रालय का काम मुख्यमंत्री अशोक गहलोत देख रहे हैं, इसलिए उम्मीद है कि डूडी की हत्या की साजिश कर्ताओं के खिलाफ सख्त कार्यवाही होगी।

थानों पर एफआईआर होने से अपराधों की संख्या बढ़ी-गहलोत
सात सितम्बर को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने लोक देवता बाबा रामदेव की समाधि के दर्शन किए। पोखरण स्थित रामदेवरा में मीडिया से संवाद करते हुए गहलोत ने कहा कि कानून व्यवस्था में सुधार के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। चूंकि अब पुलिस थानों पर एफआईआर दर्ज होने लगी है इसलिए अपराध की संख्या में वृद्धि नजर आ रही है। उन्होंने कहा कि आपराधिक घटनाओंको रोकने के लिए सरकार लगातार प्रयास कर रही है।

Related News

Leave a Comment