राजस्थान में महिलाओं के कल्याण की ये सात योजनाएं लाना है प्रस्तावित, साथिनों का बढ़ाया जाएगा इतना मानदेय

जयपुर। राज्य सरकार की ओर से प्रदेश में महिलाओं के कल्याण की 7 योजनाएं लाना प्रस्तावित है। ये बात महिला एवं विकास राज्य मंत्री ममता भूपेश ने मंगलवार को आयोजित बैठक में कही है। ममता भूपेश ने इस दौरान कहा कि महिला अधिकारिता विभाग में 300 पदों पर भर्ती होगी वहीं साथिनों का मानदेय भी 200 रुपए बढ़ाया गया है।

अजमेर में वार्ड उपचुनाव में कांग्रेस ने मारी बाजी, तीन में से दो में दर्ज की जीत

महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री ममता भूपेश ने इस सम्बन्ध में विभाग की सचिव गायत्री राठौड़, निदेशक महिला अधिकारिता पीसी पवन, निदेशक समेकित बाल विकास सेवाएं सुषमा अरोड़ा को इस बारे में आवश्यक निर्देश दिए गए हैं।

ममता भूपेश ने बताया कि प्रियदर्शनी इंदिरा गांधी महिला उद्यम प्रोत्साहन योजना, प्रियदर्शनी इंदिरा गांधी सौर शक्ति महिला कौशल विकास योजना, प्रियदर्शनी इंदिरा गांधी महिला कंप्यूटर प्रशिक्षण योजना, प्रियदर्शनी इंदिरा गांधी महिला पुनर्वास योजना, प्रियदर्शनी इंदिरा गांधी शक्ति निधि जागरूकता शिक्षा कार्यक्रम, इंदिरा गांधी शक्ति निधि में से गरीब सम्पत्तिहीन एवं सीमान्त महिलाओं के आय सृजन एवं कौशल विकास के लिए राशि उपलब्ध कराने हेतु योजना तथा प्रियदर्शनी इंदिरा गांधी शक्ति निधि में से सामुहिक विवाह योजना प्रस्तावित है।

मॉब लिंचिंग मामले में अब दोषी को मिलेगा कठोर कारावास, राजस्थान विधानसभा में पारित हुआ विधेयक

उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा एक हजार करोड़ रूपए की प्रियदर्शनी इंदिरा गांधी महिला शक्ति निधि की घोषणा की गई है।

Related News

Leave a Comment