देशद्रोह का केस दर्ज होने के बाद शेहला राशिद का आया बयान

नई दिल्ली। कश्मीरी सामाजिक कार्यकर्ता शेहला रशीद के विरुद्ध देशद्रोह का मामला दर्ज किया गया है। जम्मू कश्मीर में कथित मानवाधिकार उल्लंघन के संबंध उनके बयान को लेकर ये मामला दर्ज किया गया है। दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल ने कहा है कि तीन सितंबर को FIR दर्ज की गई है। शेहला की गिरफ्तारी की मांग करने वाले सर्वोच्च न्यायालय के वकील आलोक श्रीवास्तव की शिकायत पर एक आपराधिक शिकायत के तहत देशद्रोह का केस दर्ज किया गया।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि, ‘शेहला रशीद के खिलाफ कश्मीर घाटी में कथित रूप से सैन्य कार्रवाई की गलत जानकारी ट्वीट करने के लिए भारतीय दंड संहिता की धारा 124-ए (देशद्रोह), 153-ए (दुश्मनी को बढ़ावा देना), 504 (जानबूझकर शांति भंग करने के मकसद से अपमान करने) और 505 (उपद्रव करवाने के लिए भड़काऊ बयान देने) के तहत केस दर्ज कराया गया है।

उनके विरुद्ध सर्वोच्च न्यायालय के वकील अलख आलोक श्रीवास्तव ने शिकायत दर्ज कराई थी।’

अब शेहला रशीद ने भी इस पर प्रतिक्रिया दी है। शेहला रशीद ने अपने खिलाफ दर्ज देशद्रोह के मामले को ‘तुच्छ’, ‘राजनीति से प्रेरित’ और उन्हें चुप कराने का दयनीय प्रयास बताया है। न्यूज़ ट्रैक पर छपी खबर के अनुसार, शेहला ने अपनी प्रतिक्रिया ट्वीट के जरिए व्यक्त की थी। उन्होंने कहा था कि कश्मीर में मानवाधिकार का उल्लंघन किया जा रहा है और लोगों पर अत्याचार किया जा रहा है।

Related News

Leave a Comment