हनीट्रैप में पकड़ी गयी श्वेता ने हार्ड डिस्क जब्त करते ही की थी नस काटने की कोशिश

इंदौर। हनीट्रैप की आरोपित श्वेता ने पूछताछ के दौरान अधिकारियों को खुद गुमराह किया। उसने पहले एसआईटी के जब्ती ज्ञापन पर हस्ताक्षर करने से इनकार कर दिया। जब एसआईटी ने घर की तलाशी लेकर हार्ड डिस्क और मेमोरी कार्ड जब्त की तो पूछताछ के दौरान हाथ की नस काटने की कोशिश की।

मंगलवार को उसने कोर्ट में इसका जिक्र किया। आरोपितों श्वेता विजय जैन, श्वेता स्वप्निल जैन, बरखा भटनागर, आरती दयाल, मोनिका यादव और ड्राइवर ओमप्रकाश को एसआईटी ने मंगलवार को जिला कोर्ट में पेश किया। पुलिस ने रिमांड नहीं मांगा।


श्वेता जैन के वकील ने पुलिस पर प्रताड़ना का आरोप लगाया। श्वेता ने मजिस्ट्रेट को हाथ में बंधी पट्टी दिखाई और कहा रिमांड में उसे पीटा गया उसने परेशान होकर हाथ की नस काटने का प्रयास किया। मजिस्ट्रेट मनीष भट्ट ने सभी को 14 अक्टूबर तक न्यायिक हिरासत में जेल भेजने का आदेश दिया।

Related News

Leave a Comment