विद्यार्थियों को अब नहीं होना पड़ेगा इस बात के लिए विवश

इंटरनेट डेस्क। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) के छात्रों और उनके परिजनों के लिए अच्छी खबर है। सीबीएसई विद्यालय के विद्यार्थियों को अब किताबें, यूनिफॉर्म एवं बैग आदि चीजे स्कूलों से खरीदने के लिए विवश नहीं होना पड़ेगा।

वहीं विद्यार्थियों को घोषित फीस के अलावा किसी अन्य नाम से कोई फीस स्कूल में नहीं देनी होगी। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की नई नियमवालियों में इस बात का जिक्र किया गया है।

छात्राओं के लिए अच्छी खबर, अब स्कूल आने-जाने के लिए मिलेगी ये बड़ी सुविधा

मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने इस बात की जानकारी देते हुए कहा कि यदि कोई विद्यालय इन नियमों का उल्लंघन करता पाया गया तो उसकी मान्यता रद्द कर दी जाएगी।

नई नियमवालियों के अनुसार सीबीएसई स्कूल अपने विद्यार्थियों से घोषित स्कूल फीस के अलावा कोई भी फीस नहीं वसूल कर सकेगी। इस नए नियम से विद्यार्थियों के परिजनों को बड़ी राहत की सांस मिल सकेगी।वहीं विद्यालय अब यह निश्चित नहीं सकेंगे कि किताबें, यूनिफॉर्म एवं बैग आदि विद्यार्थी कहां से खरीदें।

SSC भर्ती परीक्षा 2018 : आवेदन करने वालों के लिए आई बड़ी खबर, अब इस तारीख तक करा सकते हैं पंजीकरण

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड से मान्यता हासिल करने के इच्छुक विद्यालयों के लिए लर्निंग आउट की जांच को अनिवार्य बना दिया गया है। वहीं स्कूलों को मान्यता देने के संबध में प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए इसे ऑनलाइन कर दिया गया है।

छात्रवृत्ति के लिए आवेदन करने वाले विद्यार्थियों को मिला एक और मौका

केन्द्रीय मंत्री जावड़ेकर ने बताया कि विद्यालयी शिक्षा को पारदर्शी बनाने के उद्देश्य से स्कूलों को मान्यता देने के मामले में केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की नियमवाली में ये बदलाव किए गए हैं।केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की स्कूलों में इस प्रकार के बदलाव से विद्यार्थियों के परिजनों को बहुत हद तक राहत की सांस मिलेगी।

Related Articles

Leave a Comment