सावन महीने में इस वजह से ससुराल की बजाएं मायके में रहती है नई नवेली दुल्हन

इंटरनेट डेस्क : सावन का पवित्र माह चल रहा और सावन के इस माह में हमारे हिंदू धर्म में कई तरह के रीति-रिवाज और परम्पराएं निभाई जाती है जो खुशहाल जीवन के लिए ध्यान में रखनी बेहद जरुरी होती है ऐसा ही कुछ नई नवेली दुल्हनों के वैवाहिक जीवन के लिए ये रस्म भी सावन में विशेष महत्व रखती है तीज का त्योहार नजदीक है तीज के मौके पर नई नवेली दुल्हन को उसके ससुराल की और से सिजांरा भेजा जाता है जिसे भेजना बेहद शुभ होता है। तो वही हिंदू धर्म में शादी के बाद नई नवेली दुल्हन को सावन में ससुराल के बजाएं मायके में रहना बेहद जरुरी है... दरअसल इस बात को लेकर ऐसी मान्यता है की इससे पति की आयु लंबी होती है और दांपत्य जीवन सुखमय बना रहता है आयुर्वेद के अनुसार सावन महीने में मनुष्य के अंदर रस का संचार अधिक होता है जिससे काम की भावना बढ़ जाती है। मौसम भी इसके लिए अनुकूल होता है जिससे नवविवाहितों के बीच अधिक सेक्स संबंध बनने से उनके स्वास्थ्य पर भी विपरीत असर पड़ता है। सावन में इस तीज पर सुहागन महिलाएं हाथों पर लगाएं शिव-पार्वती की ये आकर्षक डिजाइन वाली मेहंदी तो वही वैज्ञानिक दृष्टिकोण की बात करें तो इस महीने में गर्भ ठहरने से होने वाली संतान शारीरिक और मानसिक रूप से कमजोर हो सकती है। इसलिए इस भारतीय परम्परा को इस मौसम में निभाना एक सुहागन महिला को निभाना जरुरी होता है। बस यही वजह की सावन महीने में एक नई नवेली दुल्हन को मायके भेजात है। सावन में भगवान भोले को प्रसन्न करते है सुहागन महिलाओं के साज श्रृंगार

The post सावन महीने में इस वजह से ससुराल की बजाएं मायके में रहती है नई नवेली दुल्हन appeared first on Fashion NewsEra.



Source : fashion-news-era

Related News

Leave a Comment