विरोध के बावजूद तीन तलाक बिल लोकसभा में पास

लोकसभा में ‘तीन तलाक विधेयक’ ध्वनिमत से पास हो गया है। विधेयक पर वोटिंग से पहले ही मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने सदन से वॉकआउट किया है, कांग्रेस के अलावा भाजपा के सहयोगी दल जनता दल यूनाइटेड ने भी सदन से वॉकआउट किया। इंडिया टीवी की खबर के अनुसार, इससे पहले कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने तीन तलाक पर चर्चा के दौरान कांग्रेस को कठघरे में खड़ा किया। शाहबानों से लेकर सायरा बानों का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा, आज जो कुछ हो रहा है सब वोट बैंक की पॉलिटिक्स में हो रहा है।

आज बिल को सदन में पेश करते हुए प्रसाद ने कहा कि ये मजहब का मामला नहीं है यह नारी अस्मिता का प्रश्‍न है। इसका विरोध नहीं किया जाना चाहिए। जब दुनिया के 20 देशों में यह कानून लागू है तो भारत जैसे सैकुलर राष्‍ट्र में इसका न होना किसी भी दशा में ठीक नहीं है।

केंद्र सरकार ने लोकसभा में आज विवादास्पद ‘तीन तलाक’ विधेयक पर चर्चा के बाद उसे पारित किए जाने के लिए सूचीबद्ध किया था। सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी ने अपने सांसदों को इसके लिए व्हिप जारी किया है और उनसे सदन में अपनी उपस्थिति सुनिश्चित करने को कहा है।

विधेयक में एक साथ, अचानक तीन तलाक दिए जाने को अपराध करार दिया गया है और साथ ही दोषी को जेल की सजा सुनाए जाने का भी प्रावधान किया गया है।

Related News

Leave a Comment