प्रेग्नेंट महिला को शौहर ने दिया तीन तलाक

अज़हर मलिक काशीपुर। देश की राजनीति में भूचाल लाने वाला तीन तलाक रुकने का नाम नही ले रहा है। भले ही केंद्र की सरकार ने तीन तलाक पर कानून बना दिया हो लेकिन तीन तलाक के मामले थमने का नाम नही ले रहे हैं। तीन तलाक पर कानून बनने के बाद काशीपुर में एक मामला सामने आया है। जहां एक बार फिर एक महिला को इन तीन शब्दों का शिकार होना पढ़ा है। जिसने इंसाफ के लिए कानून का सहारा लिया है।

जब एक महिला गर्भवती होती है तो उसे सबसे ज्यादा अपने पति और अपनी माँ से सहयोग की उम्मीद होती है। लेकिन एक पति ने अपनी पत्नी के गर्भवती होने पर उसके साथ तलाक के तीन शब्दो का खेल शुरू लार दिया ओर से कोर्ट के चक्कर लगवाने के लिए प्रयास किया है। मामला काशीपुर के बांसवाड़ा चौकी क्षेत्र का है। जहां की निवासी मेसर जहा ने मार्च 2018 में अपनी बेटी का निकाह उत्तर प्रदेश के संभल निवासी राहत अली से किया था।

निकाह के कुछ समय बाद राहत अली के पिता तालिब हुसैन ने अपनी बहू के साथ अभद्रता की थी। जिसके चलते मेसर जहां ने अपनी बेटी को काशीपुर अपने घर में बुला लिया था और पुलिस में शिकायत दर्ज कर कानून से गुहार लगाई थी। जिसका मामला आज भी काशीपुर कोतवाली के महिला हेल्पलाइन में चल रहा है। जिसके बाद राहत अली अपनी पत्नी के साथ काशीपुर में अपने ससुराल में रह रहा था।

लेकिन अचानक राहत अली अपने ससुराल से फोन पर बात करते हुए वहां से फरार हो गया। और फिर राहत अली ने अपनी पत्नी को अपने से अलग करने के लिए तीन तलाक का खेल रच डाला। राहत अली ने पोस्ट आफिस से अपनी पत्नी को तलाक का एक लेटर लिखकर भेज दिया। जिसके बाद पीड़िता और उसकी मां में हड़कंप मच गया और उन्होंने इसकी शिकायत काशीपुर कोतवाली में दर्ज कराई है।

बता दे कि पीड़िता 9 महीनों से गर्भवती भी है। पीड़िता की मां बेसर जहां ने बताया कि उसकी बेटी से उसके ससुर द्वारा अभद्रता की गई थी जिसके बाद उसकी बेटी अपने मायके में रह रही है। उन्होंने बताया कि उनकी बेटी गर्भवती है और उसके पति ने उसे तलाक देकर बहुत घिनौना काम किया है। विहत माता ने यह भी कहा कि ऐसे में आरोपी को सख्त से सख्त सजा दे।


वही जब इस मामले में सीओ मनोज ठाकुर से बात की गई तो उन्होंने बताया कि पीड़िता द्वारा काशीपुर कोतवाली में तहरीर दी गई है। जिसकी जांच के लिए कार्यवाही शुरू कर दी गई है। जांच पूरी होने और दोनों पक्षो की सुनवाई के बाद मुकदमा दर्ज कर कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।


Source : upuklive

Related News

Leave a Comment