महिला एवं बाल विकास मंत्री ने एनजीओ को दे डाली ये हिदायत, राजस्थान को लगातार तीसरे साल मिलेगा ये पुरस्कार

जयपुर। महिला एवं बाल विकास मंत्री ममता भूपेश ने गैर सरकारी संस्थान (एनजीओ) को फील्ड में प्रभावी तरह से कार्य करने की हिदायत देते हुए कहा कि जो एनजीओ अच्छा प्रदर्शन नहीं करेंगे उनके साथ एमओयू को बीच में भी समाप्त किया जा सकता है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि जिन एनजीओ का बेहतरीन प्रदर्शन होगा उनके एमओयू की अवधि को आगे के लिए बढ़ाया जाएगा।

राज्य सरकार की ओर से आई शिक्षित बेरोजगारों के लिए अच्छी खबर, इस विभाग में इतने हजार पदों पर जल्द होगी भर्ती

ममता भूपेश ने मंगलवार को महिला अधिकारिता विभाग में महिला एवं बाल विकास की योजनाओं से जुड़े गैर सरकारी संस्थाओं के साथ आयोजित बैठक में कहा है कि एनजीओ फील्ड में प्रभावी तरह से कार्य कर लक्षित वर्ग को लाभान्वित करें। प्रस्तुतिकरण और पेपर वर्क तो सभी एनजीओ बहुत अच्छा करते हैं, किन्तु उसका फील्ड में प्रभाव उस स्तर पर नहीं दिखता। यदि एनजीओ इस ओर ध्यान देकर जमीनी स्तर पर अपनी योजनाओं को अमली जामा पहनाएं तो अपेक्षित परिणाम प्राप्त हो सकते हैं।

पर्यटन स्थलों पर फिल्म शूटिंग के लिए राजस्थान सरकार करने जा रही है ये बड़ा काम, इससे फिल्म निर्माता होंगे आकर्षित

इस दौरान महिला एवं बाल विकास मंत्री ने कहा कि कई एनजीओ अच्छा कार्य कर रहे हैं। महिला एवं बाल विकास विभाग लगातार अच्छा कार्य कर रहा है जिसके चलते राष्ट्रीय पोषण मिशन में राज्य को प्रथम पुरस्कार मिला है। वहीं बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ में भी राज्य को आगामी 6 सितम्बर को लगातार तीसरे वर्ष प्रथम पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा।

Related News

Leave a Comment